Indore Metro Project: इंदौर में अब शुरू हो, तो फिर बंद न हो मेट्रो प्रोजेक्ट का काम

Updated: | Sun, 01 Aug 2021 02:10 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Indore Metro Project। सांसद शंकर लालवानी ने शनिवार को ठप पड़े शहर के मेट्रो प्रोजेक्ट की समीक्षा की। उन्होंने मेट्रो कंपनी के अफसरों से कहा कि अब जब भी मेट्रो प्रोजेक्ट का काम शुरू हो, तो उसे बंद नहीं होना चाहिए। पहले ही प्रोजेक्ट में बहुत देरी हो गई है। अब तेजी से काम होना चाहिए। सांसद ने कहा कि मेट्रो स्टेशन की पब्लिक ट्रांसपोर्ट से कनेक्टिविटी जरूरी है, साथ ही चार और दो पहिया वाहनों के लिए अभी से मल्टीलेवल पार्किंग बनाने की तैयारी होनी चाहिए।

मेट्रो कंपनी के विजय नगर स्थित आफिस में सांसद ने अधिकारियों से प्रोजेक्ट में अब तक हुई प्रगति की जानकारी ली। वे बोले मेट्रो स्टेशन ऐसे होने चाहिए, जहां सिटी बसें खड़ी हो सकें। एयरपोर्ट से रिंग रोड स्थित शहीद पार्क के बीच कई जगह मल्टीलेवल पार्किंग बनाए जा सकते हैं। रेलवे स्टेशन और प्रस्तावित केबल कार की मेट्रो स्टेशन से कनेक्टिविटी अभी से सुनिश्चित की जानी चाहिए। मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए कई जगह निजी जमीनें लेनी पड़ेंगी। उसमें अड़चनें नहीं आएं, इसके लिए अभी से ट्रांसफरेबल डेवलपमेंट राइट (टीडीआर) के जनरेटिंग और रिसीविंग जोन तय कर दें और जमीन लेने की प्रक्रिया शुरू करें।

स्टेशन से जोड़ने के लिए शास्त्री मार्केट तरफ से बिछाएंगे लाइन, सांसद बोले अभी रुको

बैठक में अफसरों ने बताया कि पहले मेट्रो लाइन गांधी हाल तरफ से गुजरने वाली थी, लेकिन चूंकि उसे रेलवे स्टेशन से कनेक्टिविटी देना है, इसलिए मेट्रो लाइन शास्त्री ब्रिज की तरफ से बिछाने का प्रस्ताव है। इस पर सांसद ने कहा कि शास्त्री मार्केट तरफ से मेट्रो लाइन गुजारना है या नहीं, इसका फैसला शहर के जनप्रतिनिधि करेंगे। शास्त्री मार्केट शहर का बड़ा बाजार है। बिना शहर के लोगों से चर्चा किए अधिकारी ऐसा प्रस्ताव कैसे बना सकते हैं। ऐसे मामलों में सभी को विश्वास में लेकर काम करना होगा। सांसद बोले कि इस संबंध में मेट्रो कंपनी के अधिकारी निगमायुक्त से चर्चा करें और उन्हें भी जानकारी दें।

अब 20 अगस्त से शुरू होगा काम

सांसद ने बताया कि बैठक में अफसरों ने भी माना कि इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट में काफी देरी हुई है, लेकिन अब सभी एजेंसियों से बात हो गई है और 20 अगस्त से काम गति पकड़ेगा। अफसरों ने कहा कि पहले चरण के काम के टेंडर में जो कमियां रह गई हैं, उन्हें अगले चरणों में दूर किया जाएगा। इससे कम से कम नए कार्यों में देरी नहीं होगी। पहले अधिकारी इंदौर मेट्रो का काम 15 अगस्त से शुरू होने के दावे कर रहे थे। सांसद ने बताया कि दिल्ली में लोकसभा की शहरी विकास समिति 3 अगस्त को इंदौर-भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट की समीक्षा करेगी।

केवल अधिकारी बैठकर मेट्रो प्रोजेक्ट फाइनल नहीं करें

सांसद ने अफसरों से कहा कि अगले चरण में एमआर-10 ब्रिज से गांधी नगर के बीच काम होना है और वर्तमान में एमआर-10 ब्रिज से शहीद पार्क के बीच का रुका हुआ काम भी शुरू होगा। केवल इन दो हिस्सों में मेट्रो ट्रेन चलाने से न तो वायबिलिटी आएगी और न ही यात्री मेट्रो ट्रेन का उपयोग करेंगे। इसके लिए पूरी रिंग का काम तेजी से होना चाहिए। अफसरों ने बताया कि शहीद पार्क से बंगाली चौराहा, पलासिया, रीगल और बड़ा गणपति होते हुए एयरपोर्ट तक की मेट्रो लाइन के लिए प्लानिंग फाइनल हो गई है। इस पर सांसद बोले कि केवल अधिकारी बैठकर प्रोजेक्ट फाइनल न करें। यह शहर का प्रोजेक्ट है, इसलिए जनप्रतिनिधियों, प्रबुद्धजनों और तकनीकी विशेषज्ञों के साथ बैठक कर उनके सुझाव भी लिए जाएं। भविष्य में सघन क्षेत्रों में भूमिगत मेट्रो लाइन का काम होगा, जिसके लिए जनप्रतिनिधियों से जरूर चर्चा करें। अधिकारियों ने कहा कि जल्द ही वे बैठक कर इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट की जानकारी सभी जनप्रतिनिधियों को देंगे। बैठक में प्रमुख सचिव और मेट्रो रेल कार्पोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर मनीष सिंह और निगमायुक्त प्रतिभा पाल के अलावा मेट्रो कंपनी के अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: gajendra.nagar