मप्र की मंत्री ऊषा ठाकुर बोली : कोरोना के कोई प्रतिबंध नहीं, टंट्या मामा के ताबीज से होता है स्वास्थ्य लाभ

Updated: | Thu, 02 Dec 2021 08:36 PM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश में कोरोना के कोई प्रतिबंध नहीं हैं। 4 दिसंबर को हो रहे टंट्या भील बलिदान दिवस के आयोजन से पहले प्रदेश की संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर ने यह बात कही है। कोरोना के नए वैरिएंट के खतरे के बीच भीड़ भरे सरकारी आयोजन को लेकर उनसे सवाल पूछा गया था।स्थानीय रेसीडेंसी कोठी में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कोई प्रतिबंध नहीं है। मेरी दृढ़ आस्था और विश्वास है कि कहीं कुछ होना नहीं है।

मंत्री ठाकुर ने आगे यह भी कहा कि आपकों जानकर आश्चचर्य होगा कि टंट्या मामा के ताबीज बंटते हैं। उनसे भी स्वास्थ्य लाभ होता है।इतने बड़े क्रांतिकारी को हम प्रणाम करने जा रहे हैं। कहीं कोई प्रकृति और कहीं कोई परमात्मा किसी तरह का व्यवधान पैदा नहीं हो पाएगा।

मंत्री के बयान पर कांग्रेस नेताओं ने हल्ला बोला

मंत्री के बयान पर कांग्रेस नेताओं ने हल्ला बोल दिया है। कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेशसिंह यादव ने कहा है कि बीते वर्षों में भी भाजपा ने कोरोना फैलाने और इंदौर को हाट स्पाट बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। ऐसे भीड़ भरे आयोजन कर भाजपा लोगों को खतरे में डाल रही है और दूसरी तरफ प्रशासन से लोगों के चालान बनवा कर दुकानें सील करवा रही है।

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सदाशिव यादव का आरोप

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सदाशिव यादव ने आरोप लगाया कि मंत्री ठाकुर ने आज मेम्दी गांव जाकर लोगों को धमकाया कि अगर आयोजन में भीड़ इकट्ठी कर नहीं पहुंचे तो देशद्रोही कहे जाओगे। ऐसे कृत्यों के लिए मुख्यमंत्री व भाजपा को आदिवासी समाज से माफी मांगना चाहिए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay