एमपी पीएससी ने जारी किया कैलेंडर, अटके रिजल्ट दिसंबर में आएंगे

Updated: | Thu, 02 Dec 2021 10:34 AM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महीनों से अटके मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (पीएससी) के रिजल्ट दिसंबर में जारी होंगे। मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग ने नया कैलेंडर जारी करते हुए यह घोषणा की है। पीएससी के पूर्व घोषित कैलेंडर कागजी साबित हुए थे क्योंकि ओबीसी आरक्षण पर विवाद न्यायालय में लंबित है। साल 2019 की राज्य सेवा और वन सेवा की मुख्य परीक्षा के साथ वर्ष 2020 की राज्य सेवा और राज्य वन सेवा की प्रारंभिक परीक्षा के रिजल्ट अब तक घोषित नहीं हो सके हैं। मुख्य परीक्षाएं मार्च में हुई थीं। प्रारंभिक परीक्षा जुलाई में हुई थी। दरअसल इन परीक्षाओं में राज्य सरकार ने ओबीसी आरक्षण को 14 से बढ़ाकर 27 प्रतिशत कर दिया है। इसके खिलाफ कई अभ्यर्थियों ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर दी। सुनवाई जारी है।

अंतिम निर्णय नहीं आने से पीएससी के परिणाम और प्रक्रियाएं रोक दी गईं। आरक्षण विवाद के चलते पीएससी ने अब तक राज्यसेवा 2021 और राज्य वन सेवा 2021 की घोषणा भी नहीं की है। पीएससी ने बुधवार शाम नया कैलेंडर जारी किया, जिसके अनुसार ये सभी लंबित परीक्षा परिणाम दिसंबर में जारी किए जाएंगे। राज्यसेवा 2021 की घोषणा इसी महीने करने के साथ अप्रैल 2022 में प्रारंभिक परीक्षा करवा ली जाएगी। पीएससी ने घोषणा की है कि अटके रिजल्ट जारी होने के बाद साक्षात्कार का दौर फरवरी-मार्च में पूर्ण कर लिया जाएगा। रिजल्ट की घोषणा कोर्ट के अंतिम निर्णय के बाद होगी।

देरी पर अब भी सवाल

पीएससी अरसे से कह रहा है कि शासन निर्देश नहीं दे रहा था इसलिए मजबूरी में परिणाम रोकने पड़े थे। सूत्रों के मुताबिक अब पीएससी विधिक राय के आधार पर प्रक्रिया आगे बढ़ाकर प्रांरभिक और मुख्य परीक्षा के परिणाम जारी कर देगा, क्योंकि कोर्ट ने किसी भी प्रक्रिया को लेकर स्थगन या रोक लगाने का आदेश नहीं दिया है।

Posted By: Prashant Pandey