Municipal Corporation Indore: एमओएस में पार्किंग बनाने पर कंपाउंडिंग आवेदन निरस्त

Updated: | Tue, 19 Oct 2021 02:01 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Municipal Corporation Indore। नगर निगम ने सोमवार को जोडियक मॉल सहित दो अन्य भवनों को कंपाउंडिंग करने का आदेश निरस्त कर दिया है। इन्हें सात दिन में अवैध निर्माण हटाने का समय दिया गया है। निर्माण न हटाए जाने पर रिमूवल की कार्रवाई की जाएगी।

कमल किशोर गिरधर नीमा, भरत बाहेती, श्री साई लाइफ स्टाइल के श्याम चुघ, चंदा चौधरी अनूप नगर द्वारा बिना कार्य पूर्णता एवं आधिभोग प्रणाम पत्र प्राप्त किए भवन का उपयोग करते हुए दुकानों का संचालन शुरू कर दिया गया था। जिससे कंपाउंडिंग आवेदन को निरस्त करने संबंधी नोटिस जारी करते हुए अपर आयुक्त संदीप सोनी ने सात दिनों में स्पष्टीकरण संबंधी सूचना पत्र जारी किया गया है। गौरतलब है कि भवन निर्माण मॉल निर्माणकर्ता को निगम द्वारा भवन अनुज्ञा जारी की गई थी जिसमें भूतल पर व्यावसायिक उपयोग स्वीकृत दी गई थी। चार मंजिला भवन निर्माण की स्वीकृति के साथ फ्रंट में एमओएस की स्वीकृति दी गई थी। निर्माणकर्ता द्वारा बिना कार्य पूर्णता एवं अधिभोग प्राण पत्र प्राप्त किए दुकानों का संचालन किया जा रहा था। जो निगम के नियमों का उल्लंघन है। निगम द्वारा मौके की निरीक्षण रिपोर्ट में बताया कि भवन में अवैध निर्माण किया होकर फ्रंट एमओएस एवं साइड एमओएस में भी निर्माण किया जा चुका है। जिसका कंपाउंडिंग किया जाना आवश्यक है। इसके बाद ही कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र दिया जाना संभव है।

उल्लेखनीय है कि मॉल के सामने के हिस्से में एमओएस का निर्माण किया गया है वह कंपाउंडिंग की सीमा के बाहर है एवं मौके पर कायम रखे जाने योग्य नहीं है। भवन निर्माणकर्ता द्वारा स्वीकृति के विरुद्ध स्थल पर तलघर का निर्माण कर लिया गया है जिससे व्यावसायिक गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है एवं भूतल पर भी स्वीकृति से अधिक व्यावसायिक निर्माण किया गया है। उक्त व्यावसायिक निर्माण के लिए स्थल पर पर्याप्त पार्किंग की व्यवस्था अलग नहीं है। इस वजह से कार्य पूर्णता अधिभोग पत्र हेतु कंपाउंडिंग का आवेदन निरस्त किया गया है।

Posted By: gajendra.nagar