HamburgerMenuButton

इंदौर में फिर बढ़ने लगी विद्यार्थियों की संख्या, सरकारी कालेजों के होस्टल भी भरने लगे

Updated: | Mon, 14 Jun 2021 05:01 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि । कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद अब संक्रमण के मामले लगातार कम होते होते जा रहे हैं। कुछ दिनों में शहर के कालेजों में प्रवेश प्रक्रिया भी शुरू होने जा रही है कई विद्यार्थियों की परीक्षाएं भी हो रही है। ऐसे में विद्यार्थी अब शहर में अपने शहरों से वापस आ रहे हैं। शहर के भंवरकुआ क्षेत्र में किराए से होस्टल और रूम लेने की पूछताछ करने वाले विद्यार्थियों की संख्या बढ़ गई है।

विश्वविद्यालय और सरकारी कालेजों के होस्टलों में भी विद्यार्थी फिर से पहुंचने लगे हैं। चूंकि पिछले साल भी महामारी के चलते कई विद्यार्थियों ने कालेजों में प्रवेश तो ले लिया था लेकिन आनलाइन कक्षाएं लगने से होस्टल या रूम नहीं लिया था। अब विद्यार्थियों को उम्मीद लग रही है कि एक दो महीने बाद कालेज की कक्षाएं फिर से शुरू हो सकती है। आधी संख्या में कालेज बुला सकते हैं। ऐसे में विद्यार्थी शहर में रहना चाहते हैं। शहर के एसजीएसआइटीएस के होस्टल एक साल से खाली पड़े हैं।

पिछले साल पहले साल में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को महामारी के कारण होस्टल किराए पर नहीं दिए थे। अब फिर से विद्यार्थी कालेज को कह रहे हैं कि हम शहर आना चाहते हैं। इस बारे में कालेज जल्द बैठक कर निर्णय लेगा। एमपी पीएससी, यूपीएससी, बैंक और अन्य परीक्षाओं के लिए भी 50 फीसद क्षमता से कोचिंग फिर से शुरू हो सकते हैं। भर्ती परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों का भी काफी नुकसान हो रहा है इसलिए वे भी शहर में आना चाहते हैं।

कोचिंग एसोसिएशन के मार्गदर्शक अजय बंसल का कहना है कि कई विद्यार्थियों के फोन आने लगे हैं कि वे इंदौर आ रहे हैं। वे पूछ रहे हैं कि क्या कक्षाएं फिर से शुरू होगी। जब तक प्रशासन की ओर से कोचिंग को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया जाता तब तक हम विद्यार्थियों को कोई जवाब नहीं दे पा रहे हैं। एक-दो महीने में हो सकता है कि कुछ फीसद क्षमता के साथ छूट दी जाए।

Posted By: Sameer Deshpande
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.