व्यक्ति को स्वयं से अधिक परमात्मा की प्रसन्नता का ख्याल रखना चाहिए

डा. वसंत विजय महाराज के सान्निध्य में देश के विभिन्न राज्यों के भक्तों ने की शिरकत।

Updated: | Wed, 19 Jan 2022 10:18 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि । पार्श्व पद्मावती शक्तिपीठ धाम कृष्णगिरी के पीठाधिपति डा. वसंत विजयजी महाराज के सान्निध्य में रत्न गणपति महादेव मंदिर का भूमिपूजन किया गया। उजड़खेड़ा हनुमान मंदिर मार्ग स्थित विंध्याचल आश्रम के समक्ष उज्जैन में हुए पूजन कार्यक्रम को महाकालेश्वर मंदिर के विद्वान पूजारी दिनेश गुरुजी व रमन गुरुजी मौजूद थे।

इस भूमिपूजन कार्यक्रम के बाद संतश्रीजी ने बाबा महाकाल मंदिर में पहुंचकर पूजन-अर्चन कर देश और दुनिया में सुख शांति व समृद्धि की कामना की। इससे पूर्व भूमिपूजन अवसर पर गुरुदेव ने अपने प्रवचन में शास्त्रोक्त वक्तव्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि सोमवती अमावस्या पर तंत्र साधना तथा पूजन आदि करने से संकट मिटते है । सोमवती पूर्णिमा मंत्र सिद्धि के साथ समृद्धि बढ़ाती है। उन्होंने कहा कि हर क्रिया की निश्चित प्रतिक्रिया होती है। व्यक्ति में स्वयं के साथ-साथ धर्म के प्रति श्रद्धा होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि ज्योतिष शास्त्र में अथवा कुंडली में कैसी भी परेशानी हो व्यक्ति यदि दान करे, बाबा महाकाल की पूजा-भक्ति करे अथवा देवालयों के भूमिपूजन आदि में शामिल हो तो उसे भूमिलाभ सहित हर प्रकार से भाग्योदय का लाभ निश्चित प्राप्त होता है। उन्होंने यह भी कहा कि व्यक्ति को स्वयं की प्रसन्नता से अधिक परमात्मा की प्रसन्नता का ख्याल अवश्य रखना चाहिए। कार्यक्रम में इंदौर, दिल्ली, हरियाणा, चेन्नई, गोवा उत्तराखंड, मुंबई, कर्नाटक व राजस्थान सहित अनेक प्रांतों, शहरों से गुरुभक्त शामिल हुए। श्रीमहाकाल मंदिर में पूज्य गुरुदेवश्रीजी का पूजन अभिषेक के बाद मंदिर प्रशासक गणेश कुमार धाकड़ व सहायक प्रशासक मूलचंद जूनवाल तथा पूजारीवृंद ने स्वागत-सत्कार किया व आशीर्वाद लिया।

Posted By: Sameer Deshpande