Poisonous Liquor Case Indore: इंदौर के तस्करों ने बेचे स्पिरिट-स्टीकर और नकली होलोग्राम, शराब माफिया कालका है मास्टर माइंड

Updated: | Sun, 01 Aug 2021 10:14 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Poisonous Liquor Case Indore। जहरीली शराब कांड में हर स्तर पर चूक हुई है। आबकारी और पुलिस अधिकारियों की अनदेखी से तस्कर ने गली-गली में एजेंट बना लिए थे। नकली (जहरीली) शराब की होम डिलीवरी होने लगी थी। नकली शराब बनाने के लिए स्पिरिट, नकली स्टीकर, बाक्स और होलोग्राम भी खजराना क्षेत्र के श्यामसिंह चौहान और निजाम सप्लाई कर रहे थे। यह खुलासा गिरोह के मास्टर माइंड कालका प्रसाद उर्फ कल्लन ने किया है। कल्लन खंडवा और खरगोन जिले की सीमा पर ब्रांडेड कंपनियों के नाम से नकली शराब की फैक्ट्री संचालित कर रहा था।

डीआइजी मनीष कपूरिया के मुताबिक, जहरीली शराब से हुई मौतों के मामलों में एरोड्रम थाना पुलिस ने आरोपित जोगी उर्फ योगी उर्फ योगेश यादव (पैराडाइज बार), विकास बरेड़िया (सपना बार), पंकज सूर्यवंशी (तस्कर), प्रवीण यादव (ड्राइवर) को रिमांड पर लिया है। योगी ने पूछताछ में बताया कि उसके ड्राइवर प्रवीण की वाल्मीकि नगर निवासी पंकज से दोस्ती है। पंकज सुदामा नगर निवासी शराब तस्कर बंटी उर्फ राहुल बोराड़े से जुड़ा है। वह बंटी से नकली शराब की पेटियां खरीदकर बार में सप्लाई करता था। इसी तरह विकास भी सीधे पंकज से नकली शराब खरीदकर बार में परोसता था। पुलिस ने बंटी की तलाश की तो पता चला कि वह मोरखेड़ी मांधाता (खंडवा) के शराब माफिया कालका उर्फ कल्लन के लिए काम करता है। 12 हजार रुपये में मिलने वाली शराब की पेटी चार हजार रुपये में लेकर आता था और बार व होटलों में पंकज के माध्यम से सात से आठ हजार रुपये में बेचता था। शुक्रवार रात पुलिस ने बंटी की तलाश में छापे मारे तो घर से फरार हो गया। पुलिस ने दबाव बनाने के लिए उसके स्वजन को हिरासत में लिया तो देर रात आरोपित खुद ही थाने पहुंच गया।

सिपाही से बोला मैंने जहर खा लिया, अस्पताल में दम तोड़ा

बंटी के थाने आते ही द्वारकापुरी थाना पुलिस ने उसके स्वजन को छोड़ दिया। उसके पिता विजय की तीन दिन पूर्व ही मौत हुई थी। जब उससे पूछताछ की तो बेहोशी छाने लगी। बंटी ने कहा कि उसने जहर खा लिया है। अचानक तबीयत बिगड़ती देख पुलिसवाले निजी अस्पताल ले गए लेकिन देर रात उसने दम तोड़ दिया। शनिवार को बंटी के स्वजन ने पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप लगाया। एसपी (पश्चिम) महेशचंद जैन के मुताबिक, आरोपित महूनाका पर जहरीला पदार्थ खाकर आया था। पुलिस के पास उसके खिलाफ पुख्ता सुबूत हैं। आरोपित कल्लन और बंटी की ढाई सौ बार बात हुई है। वह इंदौर में कल्लन के मुख्य एजेंट के रूप में काम करता था।

निजाम ने बेचे स्टीकर-होलोग्राम, श्याम से खरीदी स्पिरिट

मास्टर माइंड कालका प्रसाद उर्फ कल्लन से खंडवा पुलिस पूछताछ कर रही है। शुक्रवार देर रात एसपी ने अन्नापूर्णा सीएसपी बीपीएस परिहार को स्थानीय एजेंट के बारे में पूछताछ करने भेजा। कल्लन ने बताया कि वह महीनों से नकली शराब बना रहा है। इसके लिए खजराना क्षेत्र का शराब तस्कर श्यामसिंह चौहान स्पिरिट सप्लाई करता है। उसका साथी निजाम नकली होलोग्राम, स्टीकर, ढक्कन और बाक्स सप्लाई करता है। क्राइम ब्रांच और चार थानों की पुलिस दोनों आरोपितों की तलाश में छापे मार रही है।

दिल्ली से ट्रक में आई शराब, ट्रांसपोर्टर गिरफ्तार

बसों और ट्रकों से शराब आने की जानकारी मिलने के बाद क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को तीन जगह छापे मारे। देर रात बाणगंगा थाना क्षेत्र से कैपिटल ट्रांसपोर्ट के संचालक को गिरफ्तार कर लिया। उसके ट्रक में दिल्ली से भारी मात्रा में शराब आई थी। पूछताछ में उसने सिर्फ इतना बताया कि भेजने वाला उसे सिर्फ मोबाइल नंबर देता था। शराब किसने भेजी, यह वह नहीं जानता है।

Posted By: gajendra.nagar