आगामी सत्र की संबद्धता को लेकर इंदौर में प्रक्रिया शुरू, कालेजों से 28 फरवरी तक मंगवाए आवेदन

विवि ने कालेजों को 28 फरवरी तक का समय दिया। इसके बाद आवेदन करने वालों को 25 प्रतिशत अतिरिक्त शुल्क देना होगा।

Updated: | Sun, 23 Jan 2022 01:52 PM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सत्र 2022-23 की संबद्धता को लेकर देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने प्रक्रिया शुरू कर दी, लेकिन इस बार नियमों में कुछ बदलाव किए है। संबद्धता के लिए महीनेभर पहले कालेजों से आवेदन मांगे है। 28 फरवरी तक का समय दिया है। इसके बाद आवेदन करने वालों को 25 प्रतिशत अतिरिक्त शुल्क देना होगा। यह व्यवस्था सिर्फ 10 मार्च तक रखी है।

अधिकारियों के मुताबिक समान्यत: कालेज अप्रैल-मई तक आवेदन करते हैं। ऐसे में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो जाती है। मजबूरन कालेजों में प्रवेश होने के बाद संबद्धता जारी करना पड़ती है। मगर इस साल से मार्च तक आवेदन करने वाले कालेजों का निरीक्षण मई तक पूरा किया जाएगा। नए कालेज-कोर्स, सीट वृद्धि, संबद्धता नवीनीकरण के लिए विश्वविद्यालय ने निर्देश जारी किए हैं। कालेजों को 28 फरवरी तक आवेदन करने पर जोर दिया है। विश्वविद्यालय के मुताबिक आवेदन मिलने के बाद कालेजों का निरीक्षण किया जाएगा। अप्रैल-मई के बीच समिति कालेजों का दौरा करेगी। बाद में रिपोर्ट के आधार पर संबद्धता व सीट वृद्धि की अनुमति देंगे ताकि जून से शुरू होने वाली प्रवेश प्रक्रिया में कालेज हिस्सा ले सकेंगे।

वरना विद्यार्थियों को नहीं दे सकेंगे प्रवेश - उच्च शिक्षा विभाग ने भी साफ कर दिया है जिन कालेजों के पास आगामी सत्र की संबद्धता नहीं होगी, वे विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं दे सकेंगे। इसके चलते विश्वविद्यालय ने प्रक्रिया जल्द शुरू की है। शैक्षणिक विभाग के उपकुलसचिव आरके बघेल का कहना है कि कालेजों से आवेदन मिलने के दस दिन में निरीक्षण के लिए समिति बनाएंगे। पिछली बार जिन कालेजों को कमियां पूरी करने को कहा था, पहले उन्हें इसके बारे में बताना होगा। उसके आधार पर अगले सत्र के लिए कालेज का निरीक्षण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कमियां पूरी नहीं करने वाले कालेजों को संबद्धता जारी नहीं करेंगे।

Posted By: Hemraj Yadav