भारी वाहनों के चालकों को वित्त प्रबंधन सिखाएगा आरटीओ

Updated: | Sat, 27 Nov 2021 08:10 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अगर आपने अपने वाहन को सिग्नल पर बंद कर लिया तो आप माह में करीब एक हजार रुपये का पेट्रोल-डीजल बचा सकते हैं। आप अपनी आय में से एक हजार रुपये महीने बचा लेंगे तो साल भर बाद यह राशि 12 हजार रुपये हो जाएगी। आप डिजिटल पेमेंट करना सीख जाएंगे, तो आपको नकदी लेकर घूमने की जरूरत नहीं होगी।

यह सब बातें परिवहन विभाग की उस ट्रेनिंग का हिस्सा है जो भारी वाहनों के चालकों के ट्रायल के बाद नंदानगर के ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर में दी जाएगी। परिवहन विभाग ने सीएसआर के तहत इन चालकों को वित्त प्रबंधन की ट्रेनिंग देने का निर्णय लिया है। अगले माह से इसकी शुरुआत हो जाएगी। एआरटीओ हद्येश यादव ने बताया कि हर गुरुवार को नंदानगर में भारी वाहनों के चालकों के ट्रायल होते हैं। यहां पर 60 लोगों को अपाइंटमेंट दिए जाते हैं। इन्हें 30-30 लोगों की बैच में बांटा जाता है। इन्हें अभी सड़क दुर्घटना रोेकने के लिए 30 मिनट की एक ट्रेनिंग दी जाती है। लेकिन अब हमने 30 मिनट की एक वित्त प्रबंधन की ट्रेनिंग देने का भी निर्णय किया है। उन्होंने बताया कि हमने गुरुवार को आने वाले चालकों से इस कोर्स को शुरू करने के बारे में राय ली थी। उन्होंने बताया कि उन्हें इस तरह का कोई प्रशिक्षण नहीं मिला है। इसलिए भी हम अब इसे शुरू करने जा रहे हैं। अपनी तरह का यह पहला प्रशिक्षण होगा।

ये लोग देंगे ट्रेनिंग

एआरटीओ यादव ने बताया ट्रेनिंग के लिए हमने कुछ लोगों से बात की है। इसमें कुछ बैंक मैनेजर होंगे जो पैसों की बचत का महत्व बताएंगे। इसके अलावा कुछ वित्त सलाहकार, मैकेनिकल इंजीनियर होंगे जो ईंधन बचाने के बारे में बताएंगे। इनका भुगतान सीएसआर के माध्यम से होगा। इसके लिए कुछ निजी कंपनियों से भी हमारी चर्चा जारी है।

Posted By: gajendra.nagar