इंदौर के सत्तन और बदेका को श्रीधर जोशी स्मृति साहित्य सम्मान

Updated: | Sat, 04 Dec 2021 11:50 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। साहित्य के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वालों को प्रति वर्ष इंदौर में सम्मानित किया जाता है। वरिष्ठ कवि स्वर्गीय पंडित श्रीधर जोशी की स्मृति में यह सम्मान दो साहित्यकारों को दिया जाता है। इस वर्ष भी यह सम्मान समारोह होने जा रहा है।

पंडित श्रीधर जोशी स्मृति साहित्य सम्मान इस बार राष्ट्रीय कवि सत्यनारायण सत्तन और मालवी बोली में लेखन कार्य करने वाली वरिष्ठ लेखिका माया बदेका को दिया जाएगा। यह सम्मान समारोह इंदौर में जनवरी में आयोजित होगा। विचार प्रवाह साहित्य मंच इंदौर की अध्यक्ष सुषमा दुबे ने बताया कि यह सम्मान उनके साहित्यकार पिता स्वर्गीय पं. श्रीधर जोशी की स्मृति में साहित्य के क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाली विभूतियों को दिया जाता है। सम्मान के लिए गठित चयन समिति में वरिष्ठ कवि नरेन्द्र मंडलोई (दिग्ठान, धार), वरिष्ठ कवि धीरेंद्र जोशी (महू), वरिष्ठ पत्रकार मुकेश तिवारी (इंदौर) और सुषमा दुबे शामिल थीं। सम्मान समारोह का सहयोगी संस्थान विचार प्रवाह साहित्य मंच है। उल्लेखनीय है कि सम्मान समारोह का यह तीसरा वर्ष है। अभी तक यह सम्मान वरिष्ठ साहित्यकार हरेराम वाजपेयी (इंदौर ) और वरिष्ठ आशु कवि प्रदीप नवीन (इंदौर) को प्रदान किया जा चुका है।

लीडिंग द वर्ल्ड थीम पर लीडरशिप कान्क्लेव

भारतीय उद्योग परिसंघ (मप्र) पांचवां सीआइआइ लीडरशिप कान्क्लेव 2021 का आयोजन नौ दिसंबर को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में किया गया। इंडियाज 75: लीडिंग द वे, लीडिंग द वर्ल्ड थीम रखी गई है। संस्था पदाधिकारियों के मुताबिक स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष में भारत कैसा हो और विभिन्ना क्षेत्रों से किस आधार पर विकास किया जाए। इसे लेकर विशेषज्ञ अपने-अपने विचार रखेंगे। साथ ही "न्यू इंडिया' के लिए रास्ता बनाएंगे। क्रिस गोपालकृष्णन (अध्यक्ष, एक्सिलर वेंचर्स और सह-संस्थापक इंफोसिस), बी. त्यागराजन (प्रबंध निदेशक ब्लू स्टार लिमिटेड), संदीप सिक्का (सीईओ, निप्पान लाइफ इंडिया एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड), छवि राजावत ( पूर्व सरपंच, सोडा ग्राम राजस्थान), शरण नायर (मुख्य व्यवसाय अधिकारी, काइनस्विच कुबेर), सीआइआइ के अध्यक्ष सौरभ सांगला ने कहा कि लीडरशिप कान्क्लेव के पिछले संस्करणों में राजनीति, शिक्षा, व्यवसाय, रक्षा, नौकरशाही और आध्यात्मिक दुनिया जैसे विभिन्ना क्षेत्रों से लीडर आए थे। मगर इस बार विभिन्न हिस्सों से 300 से अधिक सीईओ की भागीदारी करेंगे।

Posted By: gajendra.nagar