Traffic System In Indore: ट्रैफिक सुधार में लगा सिस्टम फेल, माइक से जागरूक करने के बजाय सीधे चालान काट रही पुलिस

Updated: | Tue, 28 Sep 2021 02:11 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Traffic System In Indore । इन दिनों जगह-जगह फिर से चौराहों पर चालानी कार्यवाही शुरू हो गई है, जबकि वरिष्ठ अफसरों के निर्देश पर लाखों रुपये खर्चकर विभाग द्वारा लगाए माईक, चिलम, अनाउंसमेंट सिस्टम अब फिर गुजरे जमाने की तरह धूल खाने लगें है। अफसरों के आदेश और निर्देश को जवान हवा में उड़ा रहे है। लोगों को समझाईश के बजाय सीधे चालान बना रहे है।

दरअसल, शहर के यातायात को बेहतर बनाने और चौराहों पर बिगड़े ट्रैफिक की व्यवस्था में व्यापक सुधार लाने के लिए विभाग द्वारा लगाए तमाम अनाउंसमेंट सिस्टम अब धीरे -धीरे फेल होते नजर आ रहे है। दरअसल पिछले साल ट्रैफिक विभाग द्वारा शहर के कई प्रमुख चौराहों पर यातायात सुधार की दृष्टि से नया और अनूठा प्रयोग शुरू किया था जिसके तहत ट्रैफिक पुलिस के जवान के हाथों में डंडे के बजाय माईक थामें जनता को ट्रैफिक के नियमों का पाठ पढ़ा रहे थे। नियम तोड़ने वालों के सीधे चालान बनाने के बजाय उन्हें समझाईश भी दे रहे थे। यही नहीं लाइन क्रॉस करने वाले रेड लाइट में निकलने वालों को भी अनाउंसमेंट सिस्टम के जरिए उनकी गलती बता रहे थे लेकिन कोरोना संकट के बाद से अब सब बंद हो गया है। अब फिर से ट्रैफिक पुलिस के जवान नियम तोड़ने वालों के सीधे चालान बनाने में लग गए है।

इधर कोरोना महामारी के संकट के बाद लगभग डेढ़ साल से ट्रैफिक पुलिस द्वारा चौराहों पर लगवाए ज्यादातर ये स्मार्ट सिस्टम अब धूल खा रहे है। वहीं अब यातायात पुलिस के जवान भी वाहन चालकों को ट्रैफिक के नियम और गुर सिखाने के बजाय सीधे चालानी कार्रवाई करने में व्यस्त नजर आ रहें है। जबकि पहले पुलिस के जवान दूर से वाहन चालकों पर नजर रख नियम तोड़ने वालों को जनता के बीच नियम और सबक दोनों सीखा रहे थे, लेकिन अब जवानों ने अफसरों का नया सिस्टम भूलकर फिर से अपना पुराना ढर्रा अपनाना शुरू कर दिया है।

Posted By: Sameer Deshpande