इंदौर में दुष्कर्म के आरोपित के अवैध निर्माण को प्रशासन की टीम ने किया ध्वस्त

इंदौर में दुष्कर्म के आरोपित के फार्म हाउस पर कार्रवाई के दौरान न्याय मांगने पहुंची पहली पत्नी।

Updated: | Tue, 18 Jan 2022 08:12 AM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंदौर प्रशासन द्वारा शहर के अपराधियों और अवैध निर्माण के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया जा रहा है। इसी मुहिम के तहत सोमवार को सामूहिक दुष्कर्म के आरोपित के मांगलिया स्थित चर्चित अवैध फार्महाउस को प्रशासन की टीम ने ध्वस्त कर दिया।

यह फार्महाउस महिला उत्पीड़न की घटना के आरोपित राजेश विश्वकर्मा का है और इसे तोड़ने की कार्यवाई की गई। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह के निर्देश पर एसडीएम रवीश श्रीवास्तव व तहसीलदार ब्रह्मस्वरूप श्रीवास्तव के साथ भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा था। कलेक्टर मनीष सिंह ने स्पष्ट किया है कि इंदौर में अपराधियों के खिलाफ प्रशासन सख्त से सख्त कार्रवाई करेगा।

सामूहिक दुष्कर्म के आरोपित राजेश विश्वकर्मा के मांगलिया में करीब तीन एकड़ में फैले फार्महाउस को तोड़ा गया। फार्म हाउस में कमरे, किचन और ऐशो-आराम के सारे साधन थे। यहां बेड, सोफा आदि महंगा सामान रखा था। आरोपित के चाचा और रिश्तेदारों ने कार्रवाई कर रहे अधिकारियों से कहा कि इसमें हमारा हिस्सा भी है, वह छोड़ दिया जाए लेकिन अधिकारियों ने उनकी नहीं सुनी। अधिकारियों के सख्त रुख को देखते हुए सब हट गए और कार्रवाई जारी रही।

पत्नी के साथ दोस्तों के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म व अप्राकृतिक करने वाले आरोपित के युवराज फार्महाउस को प्रशासन और पुलिस ने तोड़ दिया। टीम 12:45 पर मौके पर पहुंची और एक बजे से अतिक्रमण तोड़ने की करवाई जारी रही। फार्महाउस में बीयर की बोतल व अश्लील सामग्री मिली है।

दो मोबाइल, लैपटाप और भी जब्त किए

शिप्रा टीआइ गिरिजाशंकर महोबिया ने बताया कि आरोपित के मोबाइल और लैपटाप जब्त कर लिए हैं। इन्हे तकनीकी टीम के पास भेजा है। महिला ने बताया था कि मोबाइल और लैपटाप में आरोपित ने वीडियो और आडियो रिकार्ड करके रखे हैं। इनकी जांच की जा रही है डेटा रिकवर करने के बाद ही खुलासा हो सकेगा।

प्रशासन ने इस फार्महाउस को ध्वस्त करने के लिए चार जेसीबी का उपयोग किया गया। शिप्रा थाना पुलिस ने एक युवती की शिकायत के बाद राजेश विश्वकर्मा के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया था। युवती ने पुलिस को बताया था कि राजेश और उसके साथियों ने इसी फार्महाउस में रखा था।

न्याय मांगने पहुंची राजेश की पहली पत्नी

जहां एक और प्रशासन फार्महाउस को ध्वस्त करने की कार्रवाही चल रही थी, वहीं दूसरी ओर राजेश की पहली पत्नी इंसाफ मांगने पहुंचीं। कार्रवाई के दौरान पहली पत्नी भी पहुंची और प्रशासन को करवाई रोकने के लिए कहा। पत्नी ने कहा कि अभी आरोपित से तलाक नहीं हुआ है, जमीन पर उसका हक है। हालांकि पुलिस ने समझाया कि केवल अतिक्रमण ही तोड़ा है, जमीन पर उसका हक दिलाने में पुलिस व प्रशासन पूरी मदद करेगी। कार्रवाई जारी है।

पीछे बना रखा था बार

आरोपित ने फार्म हाउस के अंदर ही बार बना रखा था, जिसमें वह अय्याशी करता था। पहली पत्नी को भी इस बारे में जानकारी थी, उसने भी प्रताड़ना की शिकायत थाने में कर रखी है।

अन्य संपत्तियों की जांच कर रहा प्रशासन

मांगलिया में आरोपित राजेश विश्वकर्मा का फार्म हाउस तोड़ने के बाद प्रशासन उसकी अन्य संपत्तियों का भी पता लगाने में जुट गया है। इस मामले में कलेक्टर मनीषसिंह ने बताया कि विश्वकर्मा की अन्य संपत्तियों का पता लगाकर जांच कराई जाएगी। यह देखा जाएगा कि वह संपत्ति वैध या अवैध। यदि अवैध संपत्ति पाई गई तो उचित कार्रवाई की जाएगी। घृणित कृत्य करने वालों को आर्थिक रूप से कमजोर करने के लिए इस तरह की कार्रवाई जरूरी है। विश्वकर्मा की पूर्व पत्नी द्वारा भी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है। बताया जाता है कि पुलिस विश्वकर्मा सहित उसके साथी आरोपितों की संपत्ति का पता लगाने नागदा भी जाएगी।

नक्शे की मंजूरी न निर्माण की अनुमति और तीन एकड़ में बना लिया फार्महाउस

आरोपित राजेश ने मांगलिया में करीब तीन एकड़ जमीन पर फार्महाउस का निर्माण किया था। इसके लिए उसने न तो नगर तथा ग्राम निवेश से नक्शा पास कराया और न ही ग्राम पंचायत निर्माण की कोई अनुमति ली थी। उसने मनमाने तरीके से निर्माण कर रखा था और यहां अनैतिक गतिवधियां संचालित करता था।

Posted By: Sameer Deshpande