इंदौर में इलेक्ट्रिक और सीएनजी वाहनों से प्रदूषण को कम करने की है योजना

Updated: | Tue, 30 Nov 2021 02:59 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। पांच बार से देश के सबसे स्वच्छ शहर में प्रदूषण को कम करने के लिए अब हम कमर कस चुके हैं। पुराने वाहनों को हटाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। अब लोगों को भी इलेक्ट्रिक और सीएनजी वाहनों की तरफ जाना होगा। शहर से लोडिंग वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ शिफ्ट करने के लिए भी हम प्रयास कर रहे हैं। जल्द ही इसके सुखद परिणाम देखने को मिलेंगे।

कुछ इस तरह के सवालों के जवाब सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (एआरटीओ) राजेश गुप्ता ने मंगलवार को हेलो नईदुनिया कार्यक्रम में पाठकों को दिए। कैसे शुध्द होगी शहर की आबोहवा विषय पर उन्होंने लोगों से चर्चा की। कुछ चुनिंदा सवालों को हम यहां पर प्रकाशित कर रहे हैं।


सवाल: प्रदूषण कम करने को लेकर बढ़िया काम हो रहा है, लेकिन अब लोगों को समझाइश देनी होगी कि वे लोग अनावश्यक वाहनों का उपयोग नहीं करें। कई घरों में जितने सदस्य नहीं है। उससे ज्यादा वाहन है। इस पर रोक लगाई जाए।

राजू अग्रवाल, देवास

जवाब: वाहनों के अनावश्यक उपयेाग को लेकर लोगों को खुद ही समझना होगा। लोगों को यह भी पता है कि हर जगह वाहन लेकर नहीं जा सकते हैं। प्रदूषण को लेकर लोगों को खुद भी जागृत होना होगा। हम लोग अपनी तरफ से पूरा प्रयास कर रहे हैं। वाहनों को लेकर केन्द्र और प्रदेश सरकार कुछ नए नियम लेकर आ रही है।

सवाल: एक्यूआइ कम करने को लेकर जो मुहिम शुरू की गई है वह सराहनीय है, लेकिन कंडम वाहनों को कैसे हटाएंगे। शहर में चल रही टाटा मैजिक खराब हालात में है। अन्य दूसरे कारणों से भी प्रदूषण हो रहा है। इस पर रोक कैसे लगाएंगे।

नरसिंह कुंडवाल, अन्नपूर्णा रोड

जवाब: प्रदूषण कम करने के लिए हमने प्रयास शुरू कर दिए हैं इसमें परिवहन विभाग की भी अहम भूमिका है। पुराने लोक परिवहन वाहनों को नए से रिप्लेस करने के लिए हम प्रयास कर रहे हैं। इसके अलावा पुराने वाहनों की फिटनेस करवाने में भी सख्ती की जा रही हैं। वहीं एक तय समय के बाद इनका रजिस्ट्रेशन भी रिन्यू नहीं किया जाएगा। फिटनेस को लेकर सख्ती आने वाले दिनों में और बढ़ जाएगी।

सवाल: लोक परिवहन के स्टाप के पास साइकल स्टैंड बनाए जाए। कम किराए पर यहां पर साइकल मिल जाए तो शहर में प्रदूषण कम हो जाएगा। इस ओर परिवहन विभाग को ध्यान देना चाहिए।

आनंद दीक्षित, सिल्वर आक्स कालोनी

जवाब: शहर को स्वच्छ बनाने के लिए यह एक संयुक्त मुहिम है। नगर निगम भी इसमें शामिल है। शहर में कुछ स्थानों पर साइकल स्टैंड बनाए गए है। कई सड़कों पर साइकल लेन बनाने का प्रापोजल है। इस पर तेजी से काम हो रहा है। जल्द बदलाव देखने को मिलेगा।

सवाल: पुराने वाहनों पर प्रतिबंध लगाने के लिए परिवहन विभाग क्या कर रहा है।

असलम दुलावत, खरसौद

जवाब: पुराने वाहन को हटाने के लिए केन्द्र सरकार स्क्रैप पालिसी लेकर आ रही है। जिससे 15 साल बाद के वाहनों की संख्या कम हो जाएगी। वहीं कई वाहन कंपनियां आफर लेकर भी आई है। जिसमें पुराने वाहनों को नए वाहनों में बदला जा रहा है। जहां तक हमारी बात है तो ऐसे वाहन जो खराब हो गए हैं। हम उन्हें फिटनेस देना बंद कर रहे हैं। इससे भी काफी सुधार आ जाएगा।

सवाल: इंदौर पांचवीं बार नंबर एक आया है जो सबकी मेहनत से हुआ है, लेकिन स्पष्ट दिख रहा है कि वाहनों से ज्यादा वायु प्रदूषण हो रहा है। ऐसे में इसके लिए आप लोग क्या कदम उठा रहे हैं।

हुकमचंद कटारिया, सनावद

जवाब: कई सरकारी विभाग इसके लिए मिलकर प्रयास कर रहे हैं, जिसमें प्रदूषण बोर्ड और अन्य विभाग में शामिल है। इसके अलावा लोगों को भी सामने आना होगा। वे खुद डीजल- पेट्रोल की बजाय सीएनजी और इलेक्टि्क वाहनों की तरफ शिफ्ट होंगे तो वाहनजनित प्रदूषण में अपने आप कमी आ जाएगी। इसको लेकर हम अभियान शुरू कर रहे हैं। शहर के डीजल चलित लोडिंग वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों से बदला जा रहा है।

सवाल: वायु प्रदूषण कम करने के लिए आपके पास क्या एक्शन प्लान है।

कन्हैयालाल प्रजापति, उज्जैन

जवाब: इसके लिए संयुक्त प्रयास किए जा रहे हैं। इलेक्टि्क और सीएनजी वाहनों को प्रमोट कर रहे हैं। पुराने वाहनों को हटाने की योजना बनाई जा चुकी है। इंदौर जैसे बड़े शहर में योजनाओं को अमल में लाने में कुछ समय लग जाएगा, लेकिन जनता और अधिकारी मिलकर प्रयास करेंगे,तो हम ओबोहवा को भी शुध्द कर लेंगे।

Posted By: gajendra.nagar