Income Tax Assessment: फेसलेस असेसमेंट में हो सकता है बदलाव, पोर्टल की परेशानियों से मिलेगी राहत

Updated: | Wed, 04 Aug 2021 09:30 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Income Tax Assessment। इंदौर रीजन के नए इनकम टैक्स चीफ कमिश्नर गुंजन प्रसाद ने कार्यभार ग्रहण कर लिया। टैक्स प्रेक्टिशनर्स एसोसिएशन इंदौर को नवनियुक्त चीफ कमिश्नर से आश्वासन दिया कि आयकर के पोर्टल की परेशानियों से जल्द ही निजात मिल जाएगी। बुधवार को टीपीए के पदाधिकारियों का दल चीफ कमिश्नर से मिलने आयकर के सीजीओ काम्प्लेक्स स्थिति क्षेत्रीय मुख्यालय पहुंचा था।

टीपीए के अध्यक्ष सीए मनोज गुप्ता, सीए शैलेंद्र सोलंकी, सीए विक्रम गुप्ते, सीए मनोज पी गुप्ता और सीए मनीष डफरिया ने पहली मुलाकात के दौरान चीफ कमिश्रर प्रसाद का ध्यान विभिन्न बिंदुओं की ओर दिलाया। चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ने कहा कि आयकर को नए पोर्टल को लांच हुए करीब दो महीने बीत गए। अब तक पोर्टल ठीक से काम नहीं कर रहा। पोर्टल की परेशानियों के चलते कई करदाताओं के जरुरी रिटर्न और कंप्लायंस दाखिल तक नहीं हो सके हैं। कई करदाताओं पर गैरजरुरी पेनल्टी का बोझ आ गया है। इस पर चीफ कमिश्नर ने कहा कि पोर्टल की परेशानियां सरकार के संज्ञान में भी आ चुकी है।

विभाग की जानकारी के अनुसार इन्हें दूर करने के लिए तेजी से काम चल रहा है। 10 से 15 दिनों में पोर्टल की परेशानियां दूर हो जाएगी। सीए मनोज गुप्ता के अनुसार पोर्टल के कारण कंप्लायंस नहीं होने की बात पर चीफ कमिश्नर ने कहा कि विभाग को उम्मीद है कि सीबीडीटी की ओर से अंतिम तिथियों को लेकर कुछ राहत की घोषणा हो सकती है। टीपीए ने फेसलेस असेसमेंट में आ रही परेशानियों पर भी चर्चा की।

टीपीए ने कहा कि बड़े असेसमेंट के मामलों में यह संभव नहीं है कि फेसलेस तरीके से पूरा पक्ष रखा जा सके या विभाग को पेचिदगियांं समझाई जा सके। चीफ कमिश्नर ने कहा कि इस बारे में उच्च स्तर पर विचार चल रहा है कि कुछ बड़े मामलों में फेसलेस असेसमेंट सेे राहत दी जाए। ऐसे मामलों मेें प्रत्यक्ष रूप से पक्ष रखने को लेकर प्रविधानों में बदलाव जल्द हो सकता है।

Posted By: Sameer Deshpande