चार सालों में भी पूरा नहीं हो सका इंदौर में साढ़े तीन किलोमीटर सड़क का काम

Updated: | Wed, 04 Aug 2021 04:56 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि । जवाहर मार्ग का दबाव कम करने के लिए बनाई जा रही सरवटे-गंगवाल बस स्टैंड रोड अब हाशिए पर चली गई है। चींटी की चाल से टुकड़ों-टुकड़ों में सड़क संबंधी काम हो रहे हैं, लेकिन उन्हें गति देने की चिंता न तो जनप्रतिनिधियों को है, न ही अफसरों को। सड़क का कुछ हिस्सा स्मार्ट सिटी कंपनी और कुछ हिस्सा नगर निगम को बनाना है। स्मार्ट सिटी कंपनी वाले हिस्से में तो फिर भी छुटपुट काम हो रहे हैं, लेकिन निगम स्तर पर फिलहाल सड़क निर्माण संबंधी गतिविधियां ठप सरीखी ही हैं।

सरवटे से गंगवाल बस स्टैंड तक सड़क चौड़ीकरण प्रोजेक्ट का काम जनवरी-18 में शुरू किया गया था। सड़क की लंबाई करीब साढ़े तीन किलोमीटर है। गंगवाल बस स्टैंड से चंद्रभागा तक का हिस्सा स्मार्ट सिटी कंपनी और चंद्रभागा से सरवटे बस स्टैंड तक का हिस्सा नगर निगम को बनाना है। इस सड़क को जवाहर मार्ग का वैकल्पिक मार्ग मानते हुए इसके चौड़ीकरण का फैसला तत्कालीन महापौर मालिनी गौड़ ने लिया था।

पहले दावा किया गया था कि डेढ़-दो साल में सड़क चौड़ी हो जाएगी, लेकिन दावे हवाई साबित हुए। चौड़ीकरण में बाधक दर्जनों बाधक निर्माण अभी यथावत हैं और कुछ मामले कोर्ट स्तर पर विचाराधीन हैं। अधूरे कार्यों के कारण वाहन चालक और रहवासी, सभी परेशानियां भोग रहे हैं।

अभी यह है स्थिति

1. गंगवाल बस स्टैंड सेे मच्छी बाजार तक मुख्य मार्ग बन चुका है, लेकिन अब पानी-ड्रेनेज लाइन और फुटपाथ बनाने संबंधी काम हो रहे हैं। इसके अलावा इसी हिस्से में कुछ जगह डिवाइडर निर्माण भी हो रहा है।

2. मच्छी बाजार से हरसिद्धि जोनल आफिस के सामने से होते हुए चंद्रभागा तक 800 मीटर लंबे हिस्से का काम अधूरा है। इस हिस्से में तेजी से काम करने की जरूरत है।

3. चंद्रभागा से सरवटे बस स्टैंड के बीच का हिस्सा नगर निगम को बनाना है। इस हिस्से में सरवटे तरफ से बमुश्किल 400 मीटर लंबी सड़क ही बन पाई है।

दो महीने में बचे काम पूरे करेंगे

इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी लि. के अधीक्षण यंत्री डीआर लोधी ने बताया कि सरवटे-गंगवाल रोड चौड़ीकरण प्रोजेक्ट के अंतर्गत मच्छी बाजार और बंबई बाजार क्षेत्र में सर्विस लाइन बिछाई जा रही है। जो हिस्सा स्मार्ट सिटी कंपनी बना रही है, वहां सभी सर्विसेस भूमिगत होंगी। बिजली केबल बिछाने का भी काम हो रहा है। वर्तमान में जो काम हो रहे हैं, वे दो महीने में पूरे करेंगे। प्रोजेक्ट कब तक पूरा होगा, यह बताना अभी मुश्किल है।

दो और सड़कें भी अधूरी

- सड़कों के मामले में स्मार्ट सिटी कंपनी बुरी तरह पिछड़ी है। नंदलालपुरा-पंढरीनाथ रोड चौड़ीकरण प्रोजेक्ट का काम नंदलालपुरा से जवाहर मार्ग चौराहे के बीच पूरा हो चुका है, लेकिन उससे आगे पंढरीनाथ तक का हिस्सा जस का तस छूटा हुआ है।

- यही हालत जयरामपुर कालोनी से गोराकुंड के बीच बनाई जा रही स्मार्ट रोड की है। जयरामपुर कालोनी से सिलावटपुरा दरगाह के बीच ड्रेनेज और पानी की लाइन बिछाने का दो साल में पूरा नहीं हो पाया है।

Posted By: Sameer Deshpande