दीप जलाकर इंदौर में मनाया यशवंत राव होलकर का जन्मोत्सव

Updated: | Sat, 04 Dec 2021 01:14 PM (IST)

इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। देश के इतिहास में ख्यात स्वतंत्रता वीर और इंदौर महाराजा यशवंत राव होलकर (प्रथम) का 245 वां जन्मोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर बंगाली चौराहे के समीप यशवंतराव होलकर की प्रतिमा पर यशवंत सेना द्वारा माल्यार्पण किया गया। साथ ही दीप जलाकर दीपोत्सव मनाया गया और आतिशबाजी की गई।

संस्था के संयोजक रवीन्द्र होलकर ने बताया कि महामण्डलेश्वर दादू महाराज के सानिध्य सान्निध्य में माल्यार्पण, दीपोत्सव एवं आतिशबाजी का आयोजन किया गया। दादू महाराज ने कहा कि श्रीमंत का जीवन युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत है। वर्ष 1811 में 28 अक्टूबर को उनका देहावसान भानपुरा में हुआ था। वे हिंदी, मराठी, उर्दू, अंग्रेजी, फ़ारसी के भी ज्ञाता थे। वे एक ऐसे भारतीय शासक थे जिन्होंने अंग्रेजों को नाकों चने चबाने पर मजबूर कर दिया था। वे ऐसे शासक थे जिनका ख़ौफ अंग्रेजों में साफ-साफ दिखता था। अंग्रेज उनसे हर हाल में बिना शर्त समझौता करने को तैयार रहते थे। उनका जीवन युवाओं के लिए आदर्श की तरह है। सुमित बोराड़े ने कहा कि इस वीर योध्दा को भी गुमनामी से इतिहास के पन्ने पर लाना जरूरी है।

संगठन के अध्यक्ष लक्ष्मण दातिर ने बताया कि जिस प्रकार इंदौर में मामा को याद किया जा रहा है। आने वाला समय श्रीमंत यशवंत राव होलकर जी का होगा। जनअभियान की शुरुआत करेंगे और स्कूलों में इतिहास के रूप में बच्चों के पाठ्यक्रम में उनका जीवन आदर्श पढ़ाया जाना चाहिए। इस बारे में मध्यप्रदेश शासन से समाज का प्रतिनिधिमंडल मिलेगा।

इस अवसर पर कौशिक होलकर, धनंजय होलकर, पंडित मीत भवानी कश्यप, जीतू होलकर, मधुकर बुधे, अभिषेक गावड़े, मयूरेश पिंगले, संदीप रहाणे, रंजीत भांड, जतिन थोरात, सुमित बोराड़े, जितेश होलकर, पीयूष भिटे, कमल व्यास, सौरभ लांभाते, संदीप नजान, दीपक कोकरे, रामनरेश जादौन सहित कई युवा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन यतीश होलकर ने किया। आभार लक्ष्मण दातिर ने माना।

Posted By: gajendra.nagar