शहडोल को सैनिक स्कूल देने का सपना अधूरा छोड़ गए सीडीएस जनरल बिपिन रावत

Updated: | Thu, 09 Dec 2021 08:23 AM (IST)

जबलपुर/शहडोल, नईदुनिया प्रतिनिधि। तमिलनाडु में कुन्‍नूर के जंगलों में बुधवार दोपहर 12:20 बजे सेना का एमआइ-17व्ही5 हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। इसमें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत की मौत हो गई है।

हादसे की जानकारी लगते ही शहडोल में शोक : हादसे की जानकारी लगते ही मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में भी दुख की लहर दौड़ गई, क्योंकि बिपिन रावत का ससुराल शहडोल के सोहगपुर में है। शहडोल में लोग टीवी के सामने डटे रहे। राज घराने से ताल्लुक रखने वाली मधुलिका सिंह के पिता मृगेंद्र सिंह सोहागपुर क्षेत्र के इलाकेदार थे। घटना के बाद सेना के अधिकारियों ने स्वजनों को शहडोल से दिल्ली बुला लिया है। वहीं उनकी मां को लेने सेना की गाड़ी शहडोल भेजी गई है।

शहडोल को सैनिक स्कूल देने का था सपना : सीडीएस बिपिन रावत के छोटे साले हर्षवर्धन सिंह ने बताया कि अभी दशहरा के समय उनकी दीदी और जीजा बिपिन रावत से मुलाकात हुई थी। वो जनवरी में शहडोल आने वाले थे और उन्होंने कहा था कि वो शहडोल को एक सैनिक स्कूल देना चाहते हैं।

घर में बताया था दो दिन बाहर रहेंगे :

जानकारी के अनुसार मंगलवार काे मधुलिका ने घर में भाई से बात की थी। बातचीत के दौरान उन्‍होंने बताया था कि वे दाे दिन बाहर रहेंगी। सेना की जानकारी गोपनीय होने के कारण उन्‍होंने यह नहीं बताया था कि वे कहां जाएंगी। रावत की दाे बेटियां हैं। बड़ी बेटी कृतिका रावत की शादी मुंबई में हुई है। वहीं, छोटी बेटी तारिणी रावत अभी पढ़ रही हैं।

Posted By: Brajesh Shukla