Civil Services Preparation: बेहतर भविष्य का सपना साकार करेगी युवा आइपीएस की पहल

Updated: | Mon, 02 Aug 2021 05:18 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बेहतर भविष्य के सपने बुन रहे युवाओं के सपने साकार करने की पहल भारतीय पुलिस सेवा के युवा अधिकारी श्रुतकीर्ति सोमवंशी 30 वर्ष ने शुरू की है। कोरोना काल में सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी में आई अड़चन से परेशान युवाओं के लिए उन्होंने अपनी नई पाठशाला शुरू की है। सिहोरा के रेस्ट हाउस में उन्होंने एक अगस्त से पाठशाला की शुरुआत की। जहां वे युवाओं को सिविल सर्विसेज परीक्षा की बारीकियां सिखा रहे हैं। पाठशाला के पहले दिन बड़ी तादात में युवा प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए टिप्स लेने पहुंचे। सिहोरा में एसडीओपी व 2018 बैच के आइपीएस सोमवंशी फिलहाल प्रत्येक रविवार को पाठशाला संचालित करेंगे। रविवार अवकाश के दिन जहां ज्यादातर अधिकारी आराम करते हैं वहीं सोमवंशी ने बच्चों का भविष्य गढ़ने का सपना देखा है। पहले दिन करीब 50 विद्यार्थी पाठशाला में पहुंचे जो काफी उत्साहित रहे। विदित हो कि सोमवंशी ने दूसरे प्रयास में आइपीएस की परीक्षा उत्तीर्ण की थी।

विषय चयन की बारीकियां बताईं: आइपीएस सोमवंशी ने सफलता के मंत्र के साथ युवाओं को सिविल सर्विसेज परीक्षा में विषय चयन को लेकर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यही मार्गदर्शन विद्यार्थियों को विषय चयन का विशेष ध्यान रखना चाहिए। सही मार्गदर्शन मिलने से सिविल सर्विसेज परीक्षा में होने वाली शुरुआती गलतियों से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि पाठशाला में ऐसे तमाम विद्यार्थियों को ज्ञानवर्धन किया जाएगा जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं अथवा करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कोविड की वजह से फिलहाल प्रत्येक रविवार को युवाओं का मार्गदर्शन किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने बताया कि यह ध्यान रखना आवश्यक है कि यूपीएससी की परीक्षा में सीमित अवसर मिलते हैं। मुख्य परीक्षा से लेकर साक्षात्कार तक कदम कदम पर चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि उनके बैच के अन्य अधिकारी तथा लखनादौन में पदस्थ उनके बैच के अधिकारी सिद्धार्थ जैन तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी युवाओं का मार्गदर्शन करें।

बचपन से मिला माहौल: आइपीएस सोमवंशी ने बताया कि उन्हें बचपन से सिविल सेवा में जाने का माहौल मिला। मूलत: रायबरेली उत्तर प्रदेश निवासी सोमवंशी के पिता डॉ. तहसीलदार सिंह उत्तर प्रदेश में डीआइजी पद से सेवानिवृत्त हुए। उनके बड़े भाई स्वरोचित सोमवंशी 2012 बैच के आइएसएस हैं।

Posted By: Ravindra Suhane