Corona Pandemic: मेडिकल को और मिले 64 वेंटीलेटर, कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को बचाने यह तैयारी कर रहे सरकारी अस्पताल

Updated: | Sun, 01 Aug 2021 11:09 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए जिले के सरकारी अस्पतालों में तैयारियां की जा रही हैं। संभाग के सबसे बड़े चिकित्सा केंद्र मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बच्चों के लिए 150 बिस्तरीय पृथक वार्ड का निर्माण किया जा रहा है। इस वार्ड में गहन चिकित्सा इकाई की समस्त सुविधाएं बच्चों को मिल सकेंगी। मेडिकल में वेंटीलेटर व ऑक्सीजन की कमी को भी दूर किया जा रहा है। इधर, विक्टोरिया अस्पताल में बच्चों के लिए हाइ डिपेंडेंसी यूनिट (एचडीयू) का लोकार्पण होने के बाद 20 बिस्तरीय गहन चिकित्सा इकाई के निर्माण ने जोर पकड़ा है। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते दोनों अस्पताल (मेडिकल व विक्टोरिया) ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाए जा रहे हैं। मेडिकल में ऑक्सीजन निर्माण की तीन तथा विक्टोरिया में दो इकाई लगाने की कवायद की जा रही है।

मेडिकल की तैयारी: कोरोना से निपटने के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ऑक्सीजन सुविधा सहित 744 बिस्तरों की व्यवस्था की जा चुकी है। संक्रमण दर में कमी की वजह से फिलहाल 74 बिस्तर कोरोना के लिए आरक्षित किए गए हैं। बच्चों के लिए 150 बिस्तरीय वार्ड का निर्माण किया जा रहा है जहां गहन चिकित्सा इकाई व वेंटीलेटर की सुविधा बच्चों को मिल पाएगी। मेडिकल में 64 वेंटीलेटर और खरीदे गए हैं जिसके बाद इनकी संख्या बढ़कर 184 हो गई है। मेडिकल में ऑक्सीजन उलब्धता बढ़ाई जा रही है। कोरोना की दूसरी लहर में मेडिकल में ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए दो टैंक लगाए गए थे। संभावित तीसरी लहर से पूर्व 13, 10 व 6 किलोलीटर क्षमता वाले तीन ऑक्सीजन टैंक और लगाए जाएंगे। जिसके लिए औपचारिकता पूर्ण की जा चुकी है। मेडिकल में 150 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की खरीदी की गई है। इसके साथ ही पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मल स्केनर, बच्चों के मास्क, सेनिटाइजर व दवाओं की खरीदी की जा रही है। काेविड वार्डों में सभी पलंग ऑक्सीजन सुविधायुक्त होंगे।

विक्टोरिया की तैयारी: कोरोना की संभावित तीसरी लहर में जिला अस्पताल विक्टोरिया में 200 से ज्यादा मरीजों को भर्ती किया जा सकेगा। बच्चों के लिए एचडीयू का निर्माण किया जा चुका है। 20 बिस्तरीय गहन चिकित्सा इकाई का निर्माण जारी है। पहले से 13 बिस्तरीयकोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की एयर सेपरेशन यूनिट लगाई जा चुकी है। ऑक्सीजन के मामले में पूरी तरह आत्मनिर्भरता के लिए एक एयर सेपरेशन ऑक्सीजन यूनिट लगाई जा चुकी है। दो और यूनिट लगाने की तैयारी की जा रही है। कोविड वार्डों में प्रत्येक बिस्तर तक सेंट्रल ऑक्सीजन सुविधा के इंतजाम किए जा रहे हैं। निर्माणाधीन आइसीयू में बच्चों के हिसाब से वेंटीलेटर की खरीदी की जाएगी। विक्टोरिया में पहले से सर्वसुविधायुक्त 12 बिस्तरीय पीआइसीयू संचालित है जहां बच्चों को भर्ती कर उपचार किया जाता है। चिकित्सकों का कहना है कि आवश्यक होने पर पीआइसीयू में कोरोना संक्रमित बच्चों को भर्ती किया जा सकेगा।

-----------------------

मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं। बच्चों पर तीसरी लहर का खतरा ज्यादा बताया जा रहा है। बच्चों के लिए अलग से 150 बिस्तरीय वार्ड बनाया जा रहा है जहां आइसीयू सुविधा उपलब्ध रहेगी। ऑक्सीजन के मामले में मेडिकल पूरी तरह आत्मनिर्भर बन जाएगा।

डॉ. प्रदीप कसार, डीन

मेडिकल कॉलेज अस्पताल

----------------------

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए विक्टोरिया में आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं। सर्वसुविधायुक्त आइसीयू निर्माणाधीन है। बच्चों के उपचार संबंधी प्रोटोकाल के लिए चिकित्सकों व स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

डॉ. आरके चौधरी, सिविल सर्जन

विक्टोरिया अस्पताल

Posted By: Ravindra Suhane