HamburgerMenuButton

Jabalpur-Dindori-Amarkantak Road: डिंडौरी-अमरकंटक सड़क के अंधे मोड़ पर वाहन चालक परेशान

Updated: | Thu, 26 Nov 2020 12:01 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिला मुख्यालय से डिंडौरी होकर कबीर चबूतरा (अमरकंटक) सड़क में करीब 50 अंधे मोड़ वाहन चालकों की परेशानी का सबब बन गए हैं। वर्तमान में यात्री वाहनों को जबलपुर—डिंडौरी का फासला (कुल 145 किलोमीटर) तय करने में 4-6 घंटे तक लग रहे हैं। बावजूद इसके जबलपुर-डिंडौरी-अमरकंटक सड़क एनएच-45 ई के निर्माण को लेकर शासन गंभीर नहीं है। लोक निर्माण विभाग राष्ट्रीय राजमार्ग (पीडब्ल्यूडी एनएच) ने लगभग 8 माह पहले शासन को यह सड़क बनाने का प्रस्ताव भेजा था, जिसे अब तक मंजूरी नहीं मिली है।

पुलिस व लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के रिकॉर्ड में जबलपुर-डिंडौरी-अमरकंटक सड़क एनएच-45 ई के अंधे मोड़ पर बार—बार दुर्घटनाएं होने से इन्हें 'ब्लैक स्पॉट' के नाम से दर्ज किया गया है। पीडब्ल्यूडी एनएच की योजना के अनुसार जबलपुर-डिंडौरी-अमरकंटक सड़क की चौड़ाई बढ़ाकर दो लेन और डामर सड़क बनाई जाएगी। इस सड़क पर वाहनों की रफ्तार बढ़ाने के लिए इसके जगह—जगह मौजूद 48 अंधे मोड़ भी खत्म किए जाएंगे। लेकिन शासन का उदासीन रवैया होने से जबलपुर-डिंडौरी—अमरकंटक सड़क का निर्माणकार्य जल्द शुरू होने की उम्मीद नहीं हैं।

सफर 3 घंटे में होगा पूरा: पीडब्ल्यूडी एनएच की योजना अनुसार जबलपुर से कुंडम, शहपुरा, विक्रमपुर होकर डिंडौरी तक कुल 145 किमी. की नई सड़क बनेगी। इस नई सड़क पर वाहनों की रफ्तार बढ़ेगी और जबलपुर से डिंडौरी सिर्फ 3 घंटे में पहुंचना होगा।

नए बायपास बनेंगे: एनएच-45ई का विस्तार जबलपुर से डिंडौरी-सागर टोला-कबीर चबूतरा (अमरकंटक) तक कुल 223 किमी. का होगा। इस सड़क पर वाहनों की रफ्तार बढ़ाने कुंडम, शहपुरा, गाड़ासरई के पास नए बायपास भी बनेंगे। यह सड़क बनाने के दौरान ही ब्लैक स्पॉट हटाए जाएंगे।

सड़क बनने में यह देरी: जबलपुर-डिंडौरी-कबीर चबूतरा सड़क का प्रस्ताव अभी केंद्र को अनुमोदित करना है। इसे मंजूरी मिलने पर टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी। इसमें 3 माह व चयनित कंपनी से अनुबंध करने में समय लगेगा। इसके बाद कंपनी को यह सड़क बनाने निर्धारित 2 वर्ष का समय दिया जाएगा।

वर्जन...

जबलपुर-डिंडौरी-अमरकंटक सड़क दो लेन बनाने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है। वर्तमान में यह सड़क बनाने भू-अधिग्रहण, वन विभाग की जमीन हस्तांतरण करने की कार्रवाई चल रही है।

- विजय कुमार खण्डेलवाल, कार्यपालन यंत्री, पीडब्ल्यूडी एनएच जबलपुर

Posted By: Ravindra Suhane
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.