HamburgerMenuButton

Jabalpur News : फ्लाईओवर के सुख से पहले बिजली के झटके

Updated: | Tue, 22 Jun 2021 07:10 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में मदनमहल से दमोहनाका तक पांच किमी के फ्लाईओवर के निर्माण के जगह की बिजली लाइन की शिफ्टिंग का काम धीमा होने से पांच हजार उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं। हफ्तेभर के काम को महीना बीतने के बाद भी पूरा नहीं किया जा सका है। इधर गुणवत्ता को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। लिजाहा फ्लाईओवर बनने के बाद भी उपभोक्ताओं को ट्रिपिंग और ओवर लोडिंग जैसी समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। बिजली अधिकारी ठेका कंपनी को लगातार नोटिस दे रहे हैं, लेकिन कोई असर नहीं हो रहा है। बताया जाता है दमोहनाका से रानीताल, मदन महल क्षेत्र में पड़ने वाले फ्लाईओवर के दौरान लगभग एक सैकड़ा से ज्यादा बिजली के खंभे आड़े आ रहे हैं जो कि फ्लाईओवर में परेशानी पैदा करेंगे। फ्लाईओवर का निर्माण पहले ही शुरू हो गया है पिलर भी लगभग खड़े हो गए हैं। दमोहनाका से आगा चौक के बीच लाइन सड़क के दोनों किनारे पर खड़ी हो रही है। काम के दौरान विभाग को सुरक्षा के लिहाज से लाइन बंद करनी पड़ती है इस वजह से उपभोक्ता गर्मी में परेशान हो जाते हैं। इधर ठेकेदार लाइन खींचने में लापरवाही बरत रहे हैं जिस वजह से बिजली के तारों में खिंचाव नहीं आ रहा है। लाइन लूज होने के कारण बाद में हवा के झोंके से लाइनें आपस में टकराने का खतरा बना रहेगा।

ये दिखीं खामियां : बिजली अधिकारियों को निरीक्षण के वक्त कई खामियां दिखीं। इसमें पोल के नीचे क्रांकीट नहीं भरी गई। साइड रोड पोल पर रेडियम पट्टी नहीं लगी। लाइन के नीचे गार्डिंग नहीं की गई। कभी तार टूटे तो सीधे न नीचे गिरे। इसके अलावा कंडक्टर ढीले मिले। वहीं पोल भी कई जगह तिरछे मिले। इन्हें सुधारने के लिए पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को कहा गया है।

अलग-अलग पोल सिस्टम : शहर में एचटी लाइन और एलटी लाइन बिछी हुई है। इसे देखते हुए पोलों को अलग-अलग उंचाई पर लगाया जाएगा। हैवी लाइन 33 किलोवॉट के लिए करीब 15 मीटर लंबाई में पोल को खड़ा किया जाएगा ताकि बिजली लाइन सुरक्षित रहे। जबकि 11 केवी की लाइन में 13 मीटर लंबाई के पोल खड़े किए गए हैं।

झेलनी पड़ेगी परेशानी : खंभों को हटाने के दौरान बिजली उपभोक्ता भी डिस्टर्ब होंगे। इसमें घरेलू उपभोक्ताओं के साथ ही व्यवसायिक कनेक्शन उपभोक्ताओं को भी इस दौरान परेशानी उठानी पड़ रही है। जिसके चलते उपभोक्ताओं को बिजली की समस्या से भी रूबरू होना पड़ेगा।

फैक्ट फाइल

-19 किलोमीटर डलेगी एचटी लाइन।

-10 किलोमीटर लंबी होगी एलटी लाइन।

-19 ट्रांसफार्मर भी बदले जाएंगे।

-400 बिजली के खंभे हटाए जाएंगे।

-350 फीडर प्लर भी लगेंगे।

-10 करोड़ की राशि होगी खर्च।

.....

-नई लाइनें बिछाई जाएंगी।

-सबसे ऊपर एचटी लाइन।

-नीचे होगी एलटी लाइन।

-सौ मीटर पर फीडर पिलर होंगे।

-सात हजार उपभोक्ताओं को फायदा।

-दो से तीन माह लगने की उम्मीद।

-----------

फ्लाईओवर निर्माण के लिए बिजली लाइन के खंभों को हटाने की जवाबदारी पीडब्ल्यूडी को दी गई है। ठेका कंपनी का काम धीमा है जिसको लेकर लगातार उन्हें नोटिस दिया गया है। काम जैसा बताया जा रहा है, वैसा हो नहीं रहा है।

-हिमांशु अग्रवाल, डीई एमपीईबी

Posted By: Brajesh Shukla
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.