Electricity Department Jabalpur: 53 करोड़ वसूलने सरकारी विभागों पर बिजली अफसरों की नजर

Updated: | Tue, 28 Sep 2021 11:05 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में माह के आखिरी दिनों में राजस्व वसूली चुनौती बनी हुई है। शहर से सितंबर में वसूली 53 करोड़ रुपये करनी है। इधर अमले ने अभी तक 30 करोड़ के आसपास राजस्व जुटा लिया है लेकिन लक्ष्य के करीब पहुंचने के लिए अब विभाग को सरकारी महकमे से उम्मीद नजर आ रही है। विभागों पर दवाब बनाने के लिए सप्लाई को बंद करने की तैयारी हो रही है। शहर में बिजली कंपनी के लिए नगर निगम,वाटर वक्र्स, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग एक बड़ा जरिया है। विभाग की तरफ से कार्यपालन अभियंता ,कनिष्ठ अभियंता और लाइन स्टाफ विभागों में बिजली बिल जमा करने के लिए संपर्क कर रहे हैं। सभी जगह निर्धारित तिथि में बिल नहीं जमा करने पर सप्लाई बंद करने की चेतावनी भी दी गई है। अधीक्षण यंत्री सुनील त्रिवेदी ने कहा कि अभी कई विभागों ने बिल अदा कर दिया है। सिर्फ नगर निगम से राशि आना शेष है। नगर निगम पर बिजली विभाग का करीब 26 करोड़ रुपये ज्यादा बिजली बिल बकाया है।

अवैध कनेक्शन का बकाया भी: बिजली विभाग ने पिछले दिनों नगर निगम के द्वारा कई ऐसी स्ट्रीट लाइट कनेक्शन चिन्हित किए थे जो सीधे जोड़ लिए गए थे। इसकी बिजली विभाग से कोई अनुमति नहीं ली गई है। शहर के पांचों संभाग में ऐसे सैकड़ों स्थल चिन्हित हुए थे। उनके खिलाफ विभाग ने वसूली के लिए निगम प्रशासन को नोटिस भी जारी किया था लेकिन राशि किन्हीं कारणों से जमा नहीं हो पाई। विभाग अब उस बकाया को भी वसूलने के लिए प्रयास कर रहा है।

Posted By: Ravindra Suhane