जबलपुर में धान खरीदी शुरू न होने से किसान परेशान

Updated: | Sun, 05 Dec 2021 07:45 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कटंगी क्षेत्रांतर्गत मुरई सेवा सहकारी संस्था परिसर में एक माह से करीब 40 हजार क्विंटल धान खुले आसमान के नीचे रखी है। मौसम की बेरुखी के चलते किसानों की चिंता दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। जबकि धान उपार्जन का काम विलंब से होने से किसान गेहूं की बुवाई नहीं कर पा रहे हैं। किसानों का कहना है कि धान खरीदी समय पर शुरू होती तो आज अपनी उपज की चिंता, गेहूं की बुवाई के लिए परेशान नहीं होना पड़ता।

किसानों ने बताया कि सबसे ज्यादा परेशानी छोटे और मझोले किसानों को होती है। इन किसानों के पास लागत के लिए पैसा नहीं होता। छोटे किसान धान बेचकर ही गेहूं की फसल में लागत लगाते हैं। गेहूं की बोनी में खाद, डीजल, लेबर को पैसा देना पड़ता है। इसलिए वह अपनी धान कम दाम पर व्यापारियों को बेचने मजबूर हैं। शासन का समर्थन मूल्य 1940 रुपये है लेकिन व्यापारी किसानों से बहुत ही कम रेट पर धान खरीदते हैं। धान खरीदी केंद्र घोषित ना होने से किसानों को तीन-तीन बार परिवहन करना पड़ेगा, जिसकी लागत बढ़ेगी।

किसान गोविंद नारायण राजपूत, वीर बहादुर, संदीप विश्वकर्मा, पुरुषोत्तम सिंह चौहान, सुखराम पटेल, ओम चढ़ार, राकेश चढ़ार, अनिल राजपूत ने बताया कि शासन की नीतियों के कारण खेती घाटे का सौदा हो गई है। धान खरीदी केंद्रों में कोई सुविधा ना होने से किसानों को बिजली, पानी, तिरपाल तक की व्यवस्थाएं खुद ही करना पड़ती हैं। किसानों ने धान खरीदी अतिशीघ्र प्रारंभ करने की मांग की है। यह मांग पूरी नहीं होने पर सेवा सहकारी संस्थान परिसर में विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी गई है।

------------------------------

बूंदाबांदी ने धान के ढेरों को भिगोया: खराब मौसम व बूंदाबांदी से किसानों के हाल बेहाल हैं। शुक्रवार को हल्की बूंदाबांदी से किसानों की खेत खलिहान में फैली विक्रय योग्य हजारों क्विंटल धान भीग गया। किसानों का कहना है कि खराब मौसम की मार से परेशानी और भी बढ़ गई है। किसानों ने धान विक्रय के लिए गल्ले में रख ली थी, किन्तु गेहूं खरीदी में विलम्ब के चलते व खराब मौसम किसानों के मंसूबों पर पानी फेर रहा है। कृषक वासुदेव मिश्रा ने बताया कि खराब मौसम होने से किसान अपनी धान को तिरपाल और पन्नी से ढंक रहे हैं।

गांधीग्राम, माल्हा, डूंडी, मिढासन, बम्होरी, धमकी, रामपुर, ह्र्दयनगर, धरमपुरा, देवनगर, पथरई, ताला, देवरी, उमरिया, कैलवाश, तपा, खुडावल, शहजपुरा के किसान वासुदेव मिश्रा, विजय चौरसिया, अजय पटेल, वीरेन्द्र पटेल, प्रकाश मिश्रा, उत्तम तिवारी, राकेश पटेल, राजेश पटेल, जुगल कुमार आदि ने धान खरीदी जल्द श्ाुरू करने और किसानों को नुकसान से बचाने की अपील की है।

Posted By: Ravindra Suhane