जबलपुर में अवैध प्लाटिंग और धोखाधड़ी करने वालों पर होगी एफआइआर

Updated: | Sat, 04 Dec 2021 12:48 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। राजस्व से जुड़े प्रकरणों का समाधान करने के लिए इन दिनों राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ कलेक्टर कर्मवीर शर्मा लगातार बैठक कर रहे हैं। शुक्रवार को जनपद पंचायत पाटन कार्यालय में पाटन व मझौली तहसील में राजस्व प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा की।

कलेक्टर ने कहा कि शासकीय कार्य में लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पटवारी यदि लापरवाही करते है तो उन्हें टर्मिनेट किया जाएगा। राजस्व प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही पर मझौली तहसील के पटवारी अभेन्द्र हल्दकार को कारण बताओ सूचना पत्र देने के निर्देश दिये।

इस दौरान अपर कलेक्टर विमलेश सिंह, पाटन एसडीएम शाहिद खान, सिहोरा एसडीएम आशीष पांडे, अधीक्षक भू अभिलेख ललित ग्वालवंशी, पाटन तहसीलदार प्रमोद चतुर्वेदी,मझौली तहसीलदार प्रदीप मिश्रा, आरआई व क्षेत्र के समस्त पटवारी उपस्थित रहे। समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन, विवादित-अविवादित नामांतरण, बटवारा, सीमांकन एवं अतिक्रमण, राजस्व अभिलेख शुद्धिकरण, पीएम किसान सम्मान निधि, डायवर्सन, आरसीएमएस में दर्ज प्रकरणों की पटवारी हल्कावार समीक्षा कर राजस्व प्रकरणों का समयसीमा के भीतर निराकरण करने के निर्देश दिये।

राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिए अब पटवारी मंगलवार व गुरुवार को आपकी सरकार, आपके साथ अभियान चलाएंगें, जिससे सभी स्थानीय कर्मचारी व शिक्षक मौजूद रहेंगे। कलेक्टर ने बताया कि किसी भी व्यक्ति को अपने समस्या के निराकरण के लिए भटकना न पड़े, समय पर उनकी समस्याओं का निराकरण हो। उन्होंने कहा कि इस भावना से कार्य करें कि शीघ्रता से आमजन की समस्याओं का समाधान हो।

धोखाधड़ी पर सीधे होगी एफआइआर: कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा राजस्व अधिकारी अपने -अपने क्षेत्र में देखें कि कही भी अवैध प्लॉटिंग न हो। कही राजस्व चोरी प्रकरण न हो। डायवर्सन राजस्व बढ़ाने का एक प्रमुख भाग है। राजस्व बढ़ाने पर भी ध्यान दें। एक ही जमीन को दो-तीन लोगों को बेचने के प्रकरण पर एफआईआर दर्ज करायें। वहीं बिना अनुमति के कोई मुख्यालय न छोड़े अंयथा काम नहीं तो वेतन नहीं के सिद्धांत पर काम किया जाएगा।

शहपुरा के नगर परिषद में राजस्व प्रकरणों की भी समीक्षा की गई। समीक्षा में कलेक्टर ने राजस्व प्रकरणों के निराकरण के निर्देश दिए और कहा कि पटवारी अपने हल्का में रहे। प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही पर नायाब तहसीलदार सहित पटवारी जवाहर कुशराम नोटिस जारी किया गया। वहीं पटवारी विवेक शुक्ला को नोटिस जारी कर एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश दिए ।

Posted By: Ravindra Suhane