जबलपुर में वैक्सीन लगाने घर और दुकान तक पहुंचे स्वास्थ्य कर्मी

Updated: | Sat, 04 Dec 2021 11:59 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने का अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान न सिर्फ टीकाकरण केंद्र में आने वालों को ही वैक्सीन लगाई जा रही है बल्कि उनके घर और दुकानों तक पहंुचकर वैक्सीन लगाने का काम जारी है। वहीं कलेक्टर ने शहर और गांव के लोगों को इस संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनने और भीड़ से बचने की सलाह दी है।

दरअसल वैक्सीनेशन महाअभियान में जिले में अब तक 36 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। लगातार चल रहे इस अभियान में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने वालों में जागरूकता देखने मिल रही है। वे खुद ही आगे आकर वैक्सीन लगवा रहे हैं।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एसएस दाहिया ने बताया कि वैक्सीनेशन महाअभियान में शहरी क्षेत्र में 75 टीकाकरण केंद्र बनाये गये थे। इसी तरह जिले के ग्रामीण क्षेत्र में करीब 215 वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किये गए। टीकाकरण केंद्रों के अलावा जबलपुर शहर और जिले के ग्रामीण क्षेत्र में मोबाइल वैक्सीन वेन के माध्यम से लोगों से संपर्क किया जाकर उन्हे घर, दुकान और कार्यस्थल पर जाकर वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई गई। जबलपुर जिले में अभी तक वैक्सीन की 36 लाख 21 हजार 614 डोज लगाई गई है। इसमें 19 लाख 95 हजार 764 पात्र व्यक्तियों को लगाई गई वैक्सीन की पहली डोज शामिल है।

विमानतल के कर्मचारियों को दी जानकारी: स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने डुमना में काम करने वाले कर्मचारियों को दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों के संबंध में जारी की कोविड गाइडलाइन के बारे में बताया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा विमानतल के सभी आगमन एवं प्रस्थान पॉइंट पर कोविड जांच संबंधित व्यवस्था नए रूप से की गई है। इसके अलावा आरटीपीसीआर एवं रैपिड एंटीजन टेस्ट के दो काउंटर बनाए गए हैं। थर्मल स्कैनर और सेनिटाइजेशन की पुख्ता व्यवस्था भी की गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा रेल्वे स्टेशन और बस स्टैंड में काम करने वाले कर्मचारियों को इसकी जानकारी दी जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane