Highcourt In Jabalpur : हाई कोर्ट के आदेश के बावजूद पेंटीनाका-बरेला रोड के अतिक्रमण यथावत

Updated: | Sat, 18 Sep 2021 07:05 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। एमपी स्टेट बार कौंसिल के उपाध्यक्ष व जिला बार एसोसिएशन, जबलपुर के पूर्व अध्यक्ष आरके सिंह सैनी ने पेंटीनाका-बरेला रोड, जबलपुर के मामले में कैंट बोर्ड व नगर निगम द्वारा समुचित कदम न उठाए जाने के रवैये को गंभीरता से लेकर अवमानना याचिका दायर करने का निर्णय लिया है।

आदेश के बावजूद यह रोड अतिक्रमण मुक्त नहीं कराई, बना रहता है खतरा : उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के आदेश के बावजूद यह रोड अतिक्रमण मुक्त नहीं कराई गई। इस वजह से यातायात बाधित होता रहता है। दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इस मामले में अधिवक्ता राधेलाल गुप्ता ने पक्ष रखा। जिसके बाद हाई कोर्ट ने फोरलेन निर्माण व अतिक्रमण हटाने के दिशा-निर्देश जारी किए थे। अतिक्रमण हटाए भी गए लेकिन बाद में फिर से काबिज हो गए। फालोअप का अभाव चिंताजनक है।

वकालत के पंजीयन पर उठा सवाल, स्टेट बार ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब : एमपी स्टेट बार कौंसिल के एक शिकायत के जरिये प्रणव अवस्थी, मुन्ना, कटंगा, जबलपुर निवासी के वकालत के पंजीयन पर सवाल खड़ा किया गया है। इस शिकायत को गंभीरता से लेकर स्टेट बार ने नोटिस जारी किया है। जिसके जरिये प्रणव अवस्थी को 15 दिन के भीतर शिकायत का जवाब शपथ-पत्र, दस्तावेज व दस्तावेजों की सूची सहित पांच प्रति में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। यदि इस अवधि में जवाब पेश नहीं किया गया तो जवाब का अधिकार समाप्त कर एकपक्षीय कार्रवाई की जाएगी।

Updating...

Posted By: Brajesh Shukla