Holistic Learning Campaign: स्कूल, विकासखंड के बाद अब कला उत्सव में जिला स्तर पर विद्यार्थी दिखाएंगे प्रतिभा

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 01:51 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। विद्यालयीन स्तर पर विद्यार्थियों की प्रतिभा निखारने के लिए समग्र शिक्षण अभियान मप्र द्वारा राष्ट्रीय कला उत्सव—2021 का आयोजन किया जा रहा है। यह पहली बार है जब आफलाइन के स्थान पर कला उत्सव आनलाइन हो रहा है। कला उत्सव के आयोजन का उद्देश्य विद्यार्थियों के बीच रचनात्मकता को बनाए रखने के साथ ही उन्हें अपनी कला का प्रदर्शन करने के लिए मंच देना है। कोरोना के कारण विद्यार्थियों में कई सारी मानसिक परेशानियां देखने मिल रही हैं। जिन्हें कला के माध्यम से दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। कला उत्सव में स्कूल व विकासखंड स्तर पर प्रतियोगिताएं हो चुकी हैं। अब 18 अक्टूबर से जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है।

जिला स्तर पर वे विद्यार्थी सहभागिता कर रहे हैं जिनका चयन पहले स्कूल और फिर विकासखंड स्तर पर हुआ। जिला स्तर पर चयनित प्रतिभागी संभागत स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं में सहभागिता करेंगे। कला उत्सव में नौ विधाओं को शामिल किया गया है। जिसमें संगीत शास्त्रीय गायन, संगीत पारंपरिक लोक गायन, संगीत शास्त्रीय वादन,संगीत पारंपरिक लोक संगीत वादन, शास्त्रीय नृत्य, लोकनृत्य, दृश्य कला जैसे चित्रकला, दृश्य कला त्रिआयामी जैसे मूर्तिकला के साथ ही स्थानीय खिलौने व खेल जिसमें पारंपरिक खिलौने व खेलों को शामिल किया गया है। इन सभी विधाओं में प्रतिभागियों ने वीडियो बनाकर प्रदर्शन किया। जिसके आधार पर विजेताओं को चयन किया गया। राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताके लिए कला के प्रत्येक क्षेत्र में शिक्षकों या संबंधित कला के विद्वानों द्वारा गठित निर्णायक मंडल द्वारा निर्णय लिया जा रहा है।

कार्यक्रम समन्वयक दीप्ति ठाकुर ने बताया​ कि नोडल अधिकारी मुकेश तिवारी के मार्गदर्शन में सीमा मिश्रा, प्रतिभा दुबे और अंजना राणा के सहयोग से 18 अक्टूबर को जिला स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है।

Posted By: Ravindra Suhane