जबलपुर कलेक्‍टर ने कहा- बिना रजिस्टर्ड सूदखोर का पहचानो और कार्रवाई करो

Updated: | Wed, 01 Dec 2021 05:07 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में सूदखोरी पर सख्ती से कार्रवाई की जाए। जो सूदखोर रजिस्टर्ड नहीं है, उनकी पहचान कर उन पर सख्त कार्रवाई करें। इतना ही नहीं ऐसे स्वयंसेवी संगठन, जो समाज में विखंडन पैदा करते हैं उनकी पहचान कर उनके बारे में जानकारी रखें कि उनकी फंडिंग कहां से हो रही है। यह बात कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने लंबित प्रकरणों की समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने संंबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि मिलावटी व चिटफंड से जुड़े लोगों पर सख्ती से निपटे।

जिला पंचायत में लंबित प्रकरणों को लेकर कलेक्टर ने समीक्षा बैठक की। इस दौरान कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने सीएम हेल्पलाइन से लेकर राजस्व प्रकरणों के समाधान और वैक्सीन जैसे विषयों की मौजूदा स्थिति की समीक्षा की गई। जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी रिजू बाफना, अपर कलेक्टर सुश्री विमलेश सिंह सहित सभी जिला अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक के दौरान कलेक्टर शर्मा ने कहा कि कोरोना के संभावित तीसरी लहर के लिए सभी आवश्यक तैयारियां कर ली जाए। संबंधित अधिकारी अस्पतालों व कोविड केयर सेंटरों पर जाकर वहां संसाधनों की उपलब्धता को देखें। संक्रमण के बचाव के लिए मास्क लगाने, रोको-टोको अभियान चलाने व कोरोना गाइड लाइन का पालन करने को कहा। बैठक में सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की समीक्षा की गई।

समय सीमा में निराकृत करें, कोई भी प्रकरण : बैठक में अस्पताल में आग लगने की घटना पर कहा कि सभी अस्पताल में फायर सेफ्टी हो साथ ही सुरक्षित इलेक्ट्रीफिकेशन की व्यवस्था हो। तहसीलदार अस्पतालों में जाकर देखें। अंकुर अभियान पर उन्होंने कहा कि दो माह में निर्धारित लक्ष्य को पाने का प्रयास करें।

राजस्व प्रकरणों की बैठक : वहीं कलेक्टर ने समीक्षा बैठक के बाद जिले में पदस्थ सभी तहसीलदारों को राजस्व शुद्धिकरण अभियान के तहत भू-अभिलेखों में सुधार में मिले आवेदनों का तत्परता से निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राजस्व शुद्धिकरण पखवाड़े की प्रगति की समीक्षा करने जल्दी ही वे खुद ग्रामीण क्षेत्र का भ्रमण करेंगे तथा कमियां पाये जाने पर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई भी करेंगे।

Posted By: Brajesh Shukla