Jabalpur Crime News: कुंडम में थी मां-बेटी के शव गाड़ने की योजना, महगवां से लापता युवती के तार संजू श्रीपाल से जुड़ने के आसार

Updated: | Mon, 11 Oct 2021 11:30 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। वार्ड क्रमांक 15 बरेला निवासी बबली व उसकी बेटी निशा झारिया की हत्या के मुख्य आरोपित संजू श्रीपाल पर पुलिस का शिकंजा और कसता जा रहा है। 2018 में रहस्यमय ढंग से लापता महगवां निवासी युवती के गायब होने में भी संजू पर संदेह जताया जा रहा है। इधर, मां-बेटी की हत्या करने के बाद उनके शवों को कुंडम में ठिकाने लगाने की योजना आरोपितों ने बनाई थी। जिस स्थान का चयन उन्होंने इस काम के लिए किया वहां भी पुलिस टीम पहुंची।

महगवां निवासी युवती की गुमशुदगी की बंद पड़ी फाइल खोली गई है। पुलिस ने बताया कि लापता युवती का हत्या के आरोपित संजू से प्रेम प्रसंग चल रहा था। यह जानकारी भी मिली है कि संजू के अलावा दो और युवकों से युवती की बातचीत होती थी। संजू के अलावा जिन दो युवकों से युवती का प्रेम प्रसंग चल रहा था, पुलिस ने उनके बयान दर्ज किए हैं। पुलिस का कहना है कि महगवां निवासी युवती के लापता होने के प्रकरण में भौतिक साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं।

यह है मामला: प्रेमी से मिलन में बाधा को दूर करने तथा पैतृक संपत्ति पर एकतरफा कब्जा की नीयत से वार्ड क्रमांक 15 बरेला निवासी मालती उर्फ सुहानी ने अपनी विधवा जेठानी बबली झारिया 40 और उसकी बेटी निशा 20 की सुपारी देकर हत्या करवा दी। हत्या की सुपारी लेने वाले कथित प्रेमी संजय पाल (श्रीपाल) को 30 हजार रुपये दिए थे। रकम मिलने के बाद प्रेमी ने अपने दो दोस्तों के साथ बबली व निशा की उन्हीं के घर में गला घोंटकर हत्या कर दी। दोनों के शवों को घटनास्थल से करीब तीन किलोमीटर दूर मोटरसाइकिल से ले जाकर नहर के किनारे झाडि़यों में दफन कर दिया। 27 सितंबर से लापता मां-बेटी के शवों को मंगलवार दोपहर जमीन की खोदाई कर निकाला गया था। संजू श्रीपाल ने अपने दोस्तों राजा कोल व देवा ठाकुर के साथ मिलकर मां बेटी का गला घोंट दिया था।

Posted By: Ravindra Suhane