Jabalpur Crime News: कर्ज चुकाने के लिए शातिर बदमाशों ने बनाई यह योजना, व्यापारी दहशत में, हैरान रह गई पुलिस

Updated: | Tue, 28 Sep 2021 12:42 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आभूषण कारोबारी को परिवार समेत जान से मारने की धमकी देने वाले दो दहशतगर्दों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दहशतगर्दों ने व्यापारी को 20 लाख रुपये की अड़ीबाजी दी थी। जिसके बाद आभूषण दुकान के सामने हवाई फायर सनसनी फैला दी थी। दो अन्य फरार आरोपितों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। गिरफ्त में आए आरोपितों से तीन मोबाइल व एक मोटरसाइकिल जब्त की गई है।

यह है मामला: कैंट थाना प्रभारी विजय तिवारी ने बताया कि गली नंबर-7 सदर निवासी अमित कोचर 30 वर्ष की सदर बाजार में आभूषण की दुकान है। 23 सितंबर की रात 8.10 बजे उसके मोबाइल पर अज्ञात बदमाश ने फोन कर 20 लाख रुपये की मांग की। रकम न मिलने पर उसे परिवार समेत जान से मारने की धमकी दी।

फोन पर कई बार धमकी देने के बाद उसकी दुकान के बाहर हवाई फायर कर दहशत फैलाई गई। अमित ने घटना की जानकारी पुलिस को दी जिसके बाद धारा 384, 387, 506, 34 के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज कर किया गया। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर पुलिस टीम का गठन कर आरोपित की तलाश शुरू की गई।

पकड़े जाने पर सुनाई कर्ज की कहानी: घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज व मोबाइल नंबर के आधार पर पुलिस टीम ने विक्की उर्फ यश उर्फ राजेंद्र मरकाम 32 वर्ष निवासी ईसाई मोहल्ला गोरखपुर को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई। विक्की ने व्यापारी को धमकाने व हवाई फायर की घटना स्वीकार ली। उसने बताया कि उस पर बहुत ज्यादा कर्ज हो गया है। कर्जदार परेशान कर रहे थे, जिसके बाद उसने अपने साथी सत्यम जाटव निवासी जीके हुसैन कम्पाउंड सदर, विनय विश्वकर्मा तथा सोंटी कटारिया उर्फ हिमांशु निवासी ईसाई मोहल्ला गोरखपुर के साथ मिलकर वारदात की योजना बनाई।

बोर्ड पर लिखे नंबर पर किया फोन: थाना प्रभारी तिवारी ने बताया कि वह अपने दोस्तों के साथ किसी वारदात की फिराक में घूम रहा था। तभी सदर गली नंबर-7 स्थित आभूषण दुकान के बोर्ड पर उसकी नजर पड़ी। उस पर लिखे मोबाइल नंबर पर फोन कर उसने व्यापारी से 20 लाख की मांग की। जिसके बाद व्यापारी को दहशत में लाने के लिए उसकी दुकान के बाहर हवाई फायर किया। व्यापारी को धमकी दी गई कि अभी गोली हवा में चलाई है। दूसरी बार व्यापारी व उसके परिवार पर चलाई जाएगी। इस दौरान उसने सत्यम व विनय को रेकी के लिए लगाया था ताकि हवाई फायर करते समय वह किसी मुसीबत में न फंसे।

पुलिस की गाड़ी देखकर लौट गया था: थाना प्रभारी ने बताया कि धमकी से परेशान व्यापारी बदमाश को पांच लाख रुपये देने तैयार हो गया। जिसके बाद उसने व्यापारी को रकम लेकर सदर मुख्य मार्ग पर बुलाया। बदमाश रकम लेने पहुंचा परंतु मुख्य मार्ग पर पुलिस का वाहन देखकर लौट गया। यश की सूचना पर पुलिस ने सत्यम जाटव 24 वर्ष को गिरफ्तार कर लिया तथा दोनों के कब्जे से मोबाइल व मोटरसाइकिल जब्त की गई। फरार विनय विश्वकर्मा एवं सोंटी कटारिया उर्फ हिमांशू की तलाश जारी है।

-------------------------

आरोपितों की गिरफ्तारी में टीआइ कैंट विजय तिवारी, एसआइ गणपत मर्सकोले, सायबर सेल आरक्षक अमित पटेल की भूमिका रही।

Posted By: Ravindra Suhane