जबलपुर : बिना जांच के लिए प्लेटफार्म तक पहुंच जाते हैं अवैध यात्री और वेंडर

Updated: | Fri, 03 Dec 2021 09:57 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रेलवे ने स्टेशन की सुरक्षा के लिए चाक-चौबंद व्यवस्था की है। हर प्लेटफार्म पर आरपीएफ के जवान और कमर्शियल विभाग के टिकट जांच विभाग के कर्मचारियों को तैनात किया गया है, बावजूद इसके इन लोगों को चकमा देकर भी कई अनाधिकृत लोग प्लेटफार्म के भीतर तक पहुंच जाते हैंं। इनमें अवैध वेंडर से लेकर बिना टिकट यात्री तक शामिल है। इतना ही नहीं हवाला का लाखों रुपये ट्रेन से पहुंचाने वालों से लेकर अनाधिकृत सामान ले जाने वाले भी प्लेटफार्म के भीतर आने के लिए स्टेशन के अनाधिकृत प्रवेश द्वार का ही उपयोग करते हैं। रेलवे के सूत्र बताते हैं कि मुख्य रेलवे स्टेशन में वैसे तो अधिकृत तौर पर छह मुख्य प्रवेश द्वार हैं, लेकिन चार ऐसे अनाधिकृत द्वार हैं, जिनसे आने-जाने वालों की न तो रेलवे को खबर रहती है और न ही आरपीएफ-जीआरपी को।

यात्री सुरक्षा पर खड़े कर रहे सवाल : स्टेशन परिसर में आने वाले यात्रियों की सुरक्षा पर अनाधिकृत प्रवेश द्वार सवाल खड़े कर रहे हैंं। सूत्रों के मुताबिक आरपीएफ की रिपोर्ट में भी स्टेशन पर चार अनाधिकृत प्रवेश द्वार हैं, जिनमें दो द्वार प्लेटफार्म 1 और दो द्वार प्लेटफार्म छह पर हैं। इन द्वार की मदद से प्लेटफार्म पर आने वाले लोगों का रेलवे के पास कोई रिकॉर्ड ही नहीं होता और न ही यहां पर कोई जांच व्यवस्था है, जिससे स्टेशन पर यात्रियों की सुरक्षा पर अब सवाल खड़े हो गए हैं।

प्लेटफार्म छह पर प्रवेश द्वार :

अधिकृत द्वार- पहला मुख्य प्रवेश द्वार, दूसरा जनआहार के पास बना नया प्रवेश द्वार और तीसरा स्टेशन के बाहर एस्केलेटर की मदद से प्लेटफार्म तक आने का रास्ता।

अनाधिकृत द्वार- प्लेटफार्म छह पर जनआहार केंद्र से अंदर से बना प्रवेश द्वार, नए वेटिंग रूम से बना प्रवेेश।

प्लेटफार्म एक पर प्रवेश द्वार :

अधिकृत द्वार- मुख्य प्रवेश द्वार, दूसरा मुख्य दूसरे द्वार, तीसरा पार्सल के पास बना प्रवेश द्वार अनाधिकृत द्वार- जीआरपी थाने और रेलवे कोर्ट से स्टेशन तक आने का रास्ता

यहां से भी आते हैं लोग :

- प्लेटफार्म छह पर कटनी आउटर पर बने रेल अंडर ब्रिज नंबर एक और इटारसी एंड में रेलवे यूनियन के पास बने गेट से भी अवैध वेंडर और अनाधिकृत लोग स्टेशन तक आते हैं।

- प्लेटफार्म एक पर पोस्ट ऑफिस के गेट से कई लोग अंदर प्रवेश करते हैं। क्लॉक डाउन से भी आने-जाने का एक रास्ता है।

एयरपोर्ट जैसी होनी थी सुरक्षा, लगेगा वक्त : जबलपुर रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट जैसा सुंदर और सुविधायुक्त बनाने की योजना लगभग पूरी कर ली है, लेकिन एयरपोर्ट जैसी सुरक्षा व्यवस्था देने में अभी यहां वक्त लगेगा। दरअसल स्टेशन पर हर आने-जाने वाले यात्री और उनके लगेज की मशीन से जांच करने व्यवस्था होनी थी, जो अभी दो प्रवेश द्वार में ही है। वहीं स्टेशन के दोनों आउटर पर दीवार बननी थी, जो लगभग बन गई है, लेकिन अभी भी कई ऐसे कौने हैं, जहां से स्टेशन पर आसानी से आया और जाया जा सकता है।

----------

रेलवे स्टेशन पर सभी अधिकृत और अनाधिकृत प्रवेश द्वार पर आरपीएफ की टीम नजर रखती है। हर लगेज की जांच भी की जाती है। यात्री सुरक्षा के लिए हम हर संभव कदम भी उठाते हैं।

- प्रदीप कुमार गुप्ता, आइजी, आरपीएफ पश्चिम मध्य रेलवे

Posted By: Brajesh Shukla