Jabalpur News: पाथेय संगीत द्वारा सदाबहार फिल्मी गीतों का समारोह आयोजित

Updated: | Wed, 27 Oct 2021 12:49 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। संगीत अंतर्मन का उत्सव है, संगीत से जीवन में सकारात्मक ऊर्जा संचालित होती है। स्व.श्रवण कुमार दीपावरे ने कला, साहित्य, संगीत, सहकारिता के क्षेत्र में अपनी सकारात्मक सेवाओं से महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया। यह बात अतिथियों ने व्यक्त की। अवसर था स्व. श्रवण कुमार दीपावरे की स्मृति में पाथेय संगीत द्वारा शहीद स्मारक में आयोजित सदाबहार फिल्मी गीतों का। समारोह में अतिथि महेंद्र सिंह मरकाम, डॉ. कृष्ण कुमार दुबे, विशाल दीपावरे थे।

संयोजक मोहन लोधिया, अर्चना गोस्वामी ने अतिथियों का स्वागत किया। समारोह में प्रत्येक कलाकार को दीपावरे स्मृति स्वर श्री अलंकरण से सम्मानित किया गया। संचालन राजेश पाठक प्रवीण एवं आभार नीता दीपावरे ने किया। कलाकार अंजन दासगुप्ता,माया पांडे, प्रांजलि दिधाते, डॉ.कृष्ण कुमार दुबे, मयंक विश्वकर्मा, शिव कुमार गिरी, मोहन लोधिया, अर्चना गोस्वामी, दीप्ति राय, पल्लवी फाटक, मीनाक्षी शर्मा ने बड़ी दूर से आए हैं प्यार का तोहफा लाए हैं, उनकी पहली नजर क्या असर कर गई।

ये मेरा दीवानापन है, तुम रूठी रहो मैं मनाता रहूं, रूप तेरा ऐसा दर्पण में ना समाए जैसे सुमधुर फिल्मी गीतों द्वारा दर्शकों का मन मोह लिया। आयोजन में विजय जायसवाल, सुभाष शलभ, अनुभूति बादशा, संतोष नेमा, सुशील श्रीवास्तव शोभा तिवारी, डॉ.कामना श्रीवास्तव,माधुरी मिश्रा, डॉ.प्रतिभा पटेल की उपस्थिति रही।

आनलाइन दी ताल प्रवाह की प्रस्तुतियां:

आईसीसीआर भोपाल द्वारा संचालित कला विश्व एक विषेश अभियान में क्षितिज श्रृंखला कार्यक्रम के तहत ऑनलाइन प्रस्तुती ताल-प्रवाह का आयोजन किया गया, जिसमें जबलपुर से कलाकार मनु कौशल द्वारा तबला वादन की प्रस्तुती दी गई। कार्यक्रम फेसबुक पेज चला। मनु कौशल ने ताल रूपक में उटान, कायदा, टुकडे, परन, चक्करदार आदि बजाया। इसके बाद ताल तीनताल में राग देश के तराने को लहरे के तरह उपयोग किया। मुस्कान सोनी ने मनु के साथ हार्मोनियम में संगत दी। प्रस्तुतियों के दौरान दोनों ने अपने गुरुओं को याद करते हुये सभी का मन मोह लिया।

Posted By: Ravindra Suhane