Jabalpur News : गोकलपुर के बाशिंदे गंदगी से हलकान, संक्रामक बीमारियों का खतरा

Updated: | Fri, 22 Oct 2021 01:33 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गोकलपुर में समस्याओं का अंबार लगा है। यहां जनता की सुविधा की किसी को कोई परवाह नहीं है। इस वजह से शिकायत बनी रहती है। नागरिक शिकायत करते रहते हैं लेकिन सुनवाई नहीं होती। इस तरह समस्याओं के बीच जीना विवशता बन गई है। इससे आक्रोश बढ़ता जा रहा है। किसी भी दिन जनांदोलन हो सकता है। इस सिलसिले में कई बार ज्ञापन तक सौंपे गए लेकिन उन पर ठोस कार्रवाई नदारद रही।

कभी सफाई नहीं होती : क्षेत्रवासियों का कहना है कि नाली में कभी सफाई नहीं होती। इससे गंदगी भरती चली जाती है। एक नाली से फूटकर नाले का रूप ले लिया है। इससे क्षेत्र में सड़ांध फैलती रहती है। बच्चे बीमार पड़ रहे हैं। मलेरिया व डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। कोविड महामारी तक के दौरान में सफाई कर्मी झाडू लगाने नहीं आए। इससे संक्रमण का खतरा बना रहा। यदि कुछ दिन और यही हाल रहा तो यहां के निवासी बड़ी समस्या से ग्रस्त हो सकते हैं।

कचरा गाड़ी के दर्शन दुर्लभ : कचरे वाली गाड़ी के दर्शन दुर्लभ हैं। दूसरे मोहल्लों में कभी-कभार दर्शन हो भी जाते हैं, लेकिन हमारी तो आंखें तरस गईं। गंदगी के अंबार लगे हैं, सफाई करने वालों को इसकी कोई परवाह नहीं। हम बीमार पड़ रहे हैं। हर घर में गंदगी का रोना सुनाई पड़ रहा है।

-सुनील सोनी

हमारी कुलिया की गंदगी कोई एक बार देख ले तो दोबारा यहां आने की सोचेगा भी नहीं। नाक में रूमाल रखकर इधर से उधर जाना पड़ता है। नाली बजबजा रही है। लेकिन सफाई कर्मी नजर नहीं आते। शिकायत के बावजूद कोई सुनने वाला नहीं है। किसी को कोई फिक्र ही नहीं है।

-सनी ठाकुर

हम सालों से इसी इंतजार में हैं कि हमारे क्षेत्र में स्वच्छता अभियान की रोशनी नजर आए। लेकिन सफाई नजर ही नहीं आती। हमने अपने स्तर पर कई बार नालियां साफ कराईं लेकिन जब तक जिम्मेदार विभाग की इनायत नहीं होगी ठोस समाधान मुमकिन नहीं है।

-दुर्गेश विश्वकर्मा

Posted By: Brajesh Shukla