HamburgerMenuButton

Jabalpur News :जबलपुर की सुरभि मुले ने छह घंटे 17 मिनट तक श्रीमदभागवत गीता का वाचन कर बनाया इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड

Updated: | Thu, 17 Jun 2021 07:52 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। सुबह 8 बजकर 15 मिनट से सुरभि ने श्रीमदभागवत गीता का वाचन अर्थ सहित सुनाना शुरू किया और दोपहर 3:15 बजे पूरा किया। करीब छह घंटे 17 मिनट में निरंतर श्रीमदभागवत गीता का वाचन कर सुरभि ने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। शहर के लिए इस कीर्तिमान का बनना बड़ी उपलब्धि रही, जिसे सभी ने बहुत सराहा। सुरभि ने बताया कि वे श्रीमदभागवत गीता के इस पाठ ये संदेश देना चाहती हैं कि गीता, रामायण ये सब बुजुर्ग होने के बाद नहीं बल्कि युवा रहते हुए पढ़ना चाहिए। जब हम इन्हें पढ़ेंगे तभी तो अपने जीवन में अमल कर पाएंगे। इनकी सीख की जरूरत हमें विद्यार्थी जीवन में है।

छठवें अध्याय के बाद ब्रेक लेना था पर वो रुकी नहीं: कीर्तिमान बनाने के दौरान ये खास बात रही कि कि सुरभि को छठवें अध्याय के बाद ब्रेक लेना था पर वो रुकी नहीं और लगातार गीता का पाठ करते हुए आठवें अध्याय पर पहुंच गईं। तब निर्णायकों ने सुरभि को बीच में रुककर पानी पीने के लिए कहा। सुरभि की लगन और गीता का अर्थ सहित कंठस्थ पाठ देकर निर्णायक भी अचरज में रहे। निर्णायक डॉ. सुनीता धोटे ने बताया कि अभी तक किसी ने भी ऐसा कीर्तिमान नहीं बनाया है। यदि अब कोई इस तरह का कीर्तिमान बनाना चाहेगा तो उसे सुरभि के कीर्तिमान को ताेड़ना होगा।

गुरुवार को सुरभि का उपवास था: सुरभि के पिता अखिल मुले और मां सोनल मुले ने अपनी बेटी की इस उपलब्धि पर खुशी जताई। सुरभि के पिता अखिल मुले ने बताया कि गुरुवार को सुरभि का उपवास रहता है तो उसने सुबह से कुछ भी नहीं खाया था। उसके मन में बस कीर्तिमान बनाने की लगन थी। जिसके चलते उसे भूख-प्यास भी नहीं लग रही थी। जब निर्णायकों ने जोर दिया तब उसने ब्रेक लेकर एक केला खाया था। सुरभि मुले दसवीं कक्षा की विद्यार्थी हैं और आठ वर्ष की उम्र से अपनी दादी विजया मुले से भगवत गीता को अर्थ सहित पढ़ना सीख रही हैं। छात्रा गीता 18 अध्यायों के 700 श्लोकों को निरंतर सुनाती हैं वो भी प्रत्येक श्लोक के अर्थ के साथ। सिद्धार्थ गौतम आइएएस अकेडमी स्नेह नगर चौक में यह कीर्तिमान बनाया गया।

Posted By: Brajesh Shukla
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.