Jabalpur Police News : दशहरा पर्व पर आज चप्पे-चप्पे पर रहेगा पहरा, ढाई हजार जवान तैनात

Updated: | Fri, 15 Oct 2021 01:45 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। दशहरा पर्व पर जिले में शांति और सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रशासन और पुलिस ने कमर कस ली है। बाहर से मिली पुलिस की जो कंपनियों समेत करीब ढाई हजार पुलिस जवानों को सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी सौंपी गई है। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए रतजगा किया और वे सड़कों पर घूमे। दोनों अधिकारियों ने शहर के तमाम क्षेत्रों में पैदल और वाहनों से भ्रमण किया। उन्होंने कहा कि संस्कारधानी की गंगा जमुनी संस्कृति बरकरार रखी जाएगी। आज शुक्रवार से दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन भी प्रारंभ हो रहा है। दोनों अधिकारियों ने विसर्जन कुंडों का भी जायजा लिया। इधर, जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने राजस्व अधिकारियों को नवरात्र एवं दशहरा पर्व के दौरान अपने-अपने क्षेत्र में कोरोना गाइड लाइन का पालन कराने तथा कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी सौंपी है। कलेक्टर ने कहा कि सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार पुलिस से समन्वय स्थापित कर क्षेत्र में लगातार भ्रमण कर व्यवस्था बनाएं रखें। कानून व्यवस्था के लिहाज से महत्वपूर्ण जानकारियां जिला मजिस्ट्रेट एवं पुलिस कंट्रोल रूम को दें। सफाई, प्रकाश व पेयजल व्यस्था को भी दुरुस्त रखा जाए।

विसर्जन स्थलों पर कार्यपालिक मजिस्ट्रेट तैनात : दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के मद्देनजर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने विसर्जन स्थलों पर कार्यपालिक मजिस्ट्रेटों को तैनात किया है। आदेश के मुताबिक तहसीलदार आधारताल राजेश सिंह को हनुमाताल तालाब, नायब तहसीलदार आधारताल संदीप जायसवाल को आधारताल तालाब, तहसीलदार गोरखपुर अनूप श्रीवास्तव को विसर्जन कुंड भटौली, नायब तहसीलदार गोरखपुर राजेद्र शुक्ला को विसर्जन कुंड तिलवाराघाट, तहसीलदार रांझी श्याम नंदन चंदेले को गोकलपुर तालाब, अतिरिक्त तहसीलदार रांझी नीरज तखरया को बिलपुरा तालाब एवं नायब तहसीलदार कैंट सुरेश कुमार सोनी को मानेगांव तालाब पर दुर्गा प्रतिमाओं के निर्विघ्न विसर्जन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

ईद मिलादुन्नबी पर्व के लिए जिम्मेदारी सौंपी: कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देश पर ईद मिलादुन्नबी पर्व पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदारों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने-अपने क्षेत्र का नियमित भ्रमण सुनिश्चित करें। पुलिस अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर सुरक्षा व्यस्था व अन्य विभागों के समन्वय से प्रकाश, पेयजल, सफाई व्यवस्था दुरुस्त कर लें।

Posted By: Brajesh Shukla