Jabalpur Police News: पुलिस नहीं खोल पाई राज, संजू और देवा को जेल भेजा

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 03:30 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। महगवां बरेला में चार साल पहले हुई वारदात की तह तक पुलिस नहीं जा पाई। जिसके बाद दो दिन की रिमांड खत्म होने पर संजू श्रीपाल व मां-बेटी की हत्या के चाैथे आरोपित देवा ठाकुर को जेल भेज दिया गया।

दरअसल, महगवां निवासी युवती के लापता होने की घटना में संजू श्रीपाल का नाम सामने आया था। गुमशुदा युवती व संजू के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। उसी बीच युवती घर से लापता हो गई। आपराधिक प्रवृत्ति के संजू ने युवती के साथ क्या किया, यह जानने के लिए पुलिस ने उसे दो दिन के लिए कोर्ट से रिमांड पर लिया था। रिमांड खत्म होने के बाद संजू को जेल भेज दिया गया और युवती के लापता होने की गुत्थी नहीं सुलझ पाई।

इधर, संजू का नाम सामने आते ही युवती के स्वजन आशंका में घिर गए हैं। उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि संजू ने उनकी बेटी की हत्या तो नहीं कर दी है।

मोबाइल की तलाश में पुलिस: संजू श्रीपाल से हुई पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि महगवां निवासी युवती से बातचीत करने के लिए उसने मोबाइल उपहार में दिया था। परंतु वह मोबाइल उसने वापस ले लिया था। संजू ने उस मोबाइल काे कहां ठिकाने लगाया, पुलिस पतासाजी में जुटी है। इधर, पुलिस को पता चला कि युवती दो अन्य युवकों के संपर्क में रही। संजू से पूर्व उसका उन युवकों से प्रेम प्रसंग चल रहा था। पुलिस ने दोनों युवकों से पूछताछ की ताे पता चला कि युवती के लापता होने के काफी समय पहले उनके बीच बातचीत बंद हो चुकी थी। जिसके बाद पुलिस की आशंका संजू श्रीपाल पर और बढ़ गई। परंतु पूछताछ में कोई भौतिक साक्ष्य नहीं मिले हैं। डीएसपी ग्रामीण अपूर्वा किलेदार ने बताया कि महगवां से लापता युवती की तलाश जारी है।

यह है मामला: वार्ड क्रमांक-15 बरेला निवासी मालती उर्फ सुहानी ने अपनी विधवा जेठानी बबली झारिया 40 और उसकी बेटी निशा 20 की प्रेमी संजू उर्फ संजय श्रीपाल को सुपारी देकर हत्या करवा दी थी। संजू ने अपने दोस्तों राजा कोल व देवा ठाकुर के साथ मिलकर मां-बेटी की उन्हीं के घर में गला घोंटकर हत्या कर दी थी। जिसके बाद घर से करीब तीन किलोमीटर दूर नहर के किनारे झाडि़यों में उनके शवों को दफना दिया था। हत्याकांड में संजू की गिरफ्तारी के बाद 2018 में लापता युवती व संजू श्रीपाल के संबंध सामने आए।

Posted By: Ravindra Suhane