गुड गवर्नेंस में जबलपुर अव्वल, सीएम ने एसपी को शाबाशी दी

Updated: | Tue, 30 Nov 2021 07:30 AM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गुड गवर्नेंस के मामले में जबलपुर पुलिस के कामकाज को प्रदेश स्तर पर सराहना मिली है। सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान इस मामले में जबलपुर के अव्वल रहने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा को शाबाशी दी।

मुख्यमंत्री ने एक जनवरी से 31 अक्टूबर तक पुलिस के कामकाज का समग्र मूल्यांकन किया। अ वर्ग के छह जिलों में उन्होंने जबलपुर व उज्जैन पुलिस के प्रदर्शन की सराहना की। वहीं इसी वर्ग के चार जिलों सागर, भोपाल, इंदौर व ग्वालियर के कामकाज को संतोषजनक बताया। इसी प्रकार ब वर्ग के 24 जिलों में गुना, सतना, शहडोल तथा स वर्ग के 25 जिलों में सिंगरौली, सिवनी व झाबुआ के कामकाज की सराहना की।

बताया जाता है कि सोमवार को सभी विभागों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने गुड गवर्नेंस के कुछ बिंदु तय किए थे। जिसके अंतर्गत हत्या, हत्या का प्रयास, दुष्कर्म के प्रकरणों में आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी, लापता हुए बालक व बालिकाओं की दस्तयाबी, मादक पदार्थ एवं शराब तस्करों, खनिज संपदा के अवैध उत्खनन व परिवहन, भूमाफिया के खिलाफ कार्रवाई, असामाजिक तत्वों के खिलाफ जिला बदर, एनएसए व प्रतिबंधात्मक कार्रवाई का मूल्यांकन किया गया। सभी मापदंडों पर जबलपुर प्रदेश में अव्वल दर्जे पर रहा। पुलिस अधीक्षक बहुगुणा ने गुड गवर्नेंस में जबलपुर को मिली उपलिब्ध के लिए अधीनस्थ अधिकारियों व जवानों के कामकाज व विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन को श्रेय दिया है।

सीएम हेल्पलाइन में टाप-10 जिलों में जबलपुर: सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों के निराकरण में जबलपुर प्रदेश के टाप-10 जिलों में शामिल है। 20 नवंबर की स्थिति में जबलपुर प्रदेश में आठवें स्थान पर रहा। टाप-10 जिलों में सतना, छतरपुर, छिंदवाड़ा, राजगढ़, सिंगरौली, सीधी, कटनी, जबलपुर, देवास व होशंगाबाद शामिल है।

Posted By: Ravindra Suhane