Jabalpur Workshop News : आइएमए ने मनाया विश्व आहार दिवस

Updated: | Sat, 16 Oct 2021 04:45 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आज विश्व आहार दिवस पर आइएमए और रानी दुर्गावती अस्पताल द्वारा एल्गिन अस्‍पताल परिसर में विश्व आहार दिवस पर संगोष्ठी आयोजित की गईI संगोष्ठी में आइएमए अध्यक्ष डा. पवन स्थापक, संयुक्त संचालक स्वास्‍थ्‍य डा. संजय मिश्रा, डायटीशियन डा. अंजलि दीवान एवं आएमए सचिव डा. रूप नारायण मांडवे ने अपने विचार व्यक्त किए।

हंगरी में हुई थी शुरूआत : डा. स्थापक ने बताया की विश्व आहार दिवस की शुरुआत 1979 में हंगरी में हुई जिसका मुख्य उद्देश्य कुपोषण, भोजन की बर्बादी एवं जरुरतमंदों को भोजन न मिलना, इसके अलावा शरीर की जरुरत के अनुसार पौष्टिक आहार का महत्व विषय पर केंद्रित था।

एसिड से युक्त खाद्य पदार्थो का उपयोग करना चाहिए : संगोष्‍ठी में डा. स्‍थापक ने कहा कि समय-समय पर ऐसे कार्यक्रम से भोजन में विटामिन, मिनरल्स, ओमेगा 3 फैटी एसिड से युक्त खाद्य पदार्थो का उपयोग करना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि पर वो खाद्य पदार्थ क्या है इसके लिए सभी को जागरूकता की आवश्यकता है।

महिलाओं के लिए एल्गिन में हो रहे कार्यों की दी जानकारी : डा. संजय मिश्रा ने गर्भवती और स्तनपान करानेवाली महिलाओं के लिए एल्गिन अस्पताल में होने वाले कार्यों का विवरण दिया।

प्रसव पूर्व और बाद में खानपान की जानकारी दी : आयोजन में डा. अंजलि दीवान ने गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व एवं प्रसव के बाद क्या खानपान रखना चाहिए इस पर विचार व्यक्त किए।डा. रूप नारायण मांडवे ने विश्व आहार दिवस की महत्ता पर अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में डा. ममता गुप्ता, डा. रश्मि भटनागर एवं आइएमए के अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Posted By: Brajesh Shukla