Madhya Pradesh Jal Nigam: भेड़ाघाट और पाटन को सितंबर तक मिलने लगेगा नर्मदा जल

Updated: | Tue, 03 Aug 2021 02:25 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। भेड़ाघाट और पाटन के लोगों को भी सितंबर से पीने के लिए नर्मदा जल मिलने लगेगा। मध्यप्रदेश जल निगम द्वारा शुरू की गई भेड़ाघाट नर्मदा पेयजल योजना के तहत दोनों निकायों में पानी पहुंचाने के लिए काम पूरा कर लिया गया है। इसी के साथ कटंगी, मझौली, पनागर, सिहोरा और दमोह जिले के तेंदूखेड़ा को भी अगले साल की शुरुआत में नर्मदा जल मिलने की संभावना नजर आने लगी है।

मध्यप्रदेश अर्बन डेवलपमेंट कंपनी द्वारा जबलपुर परियोजना इकाई अतंर्गत सात निकायों में जल प्रदाय योजना का काम किया जा रहा है जो अंतिम चरण में है। एशियन विकास बैंक की सहायता से संचालित इस योजना को नर्मदा पेयजल योजना भेड़ाघाट नाम से जाना जाता है। जल प्रदाय योजना के लिए नर्मदा नदी के किनारे लम्हेटाघाट में इंटैक वैल लगाया गया है और जल शोधन के लिए 31 एमएलडी का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जा रहा है। सभी सात निकायों में कुल 12 उच्च स्तरीय टंकियों का निर्माण पूरा होने को है। हर घर शुद्ध जल पहुंचे इसके लिए 159 किलोमीटर की मुख्य पाईप लाईन और 328 किलोमीटर की वितरण पाईप लाईन बिछाई गई है।

नल कनेक्शन देने का काम भी तेजी से चल रहा है। इस योजना की विशेष बात यह है कि आगामी 30 वर्ष की जनसंख्या वृद्धि को ध्यान में रख कर डिजाईन की गई है। योजना के पूर्ण होने के बाद 10 वर्षों तक रखरखाव का कार्य एवं संचालन निर्माण एजेंसी द्वारा किया जायेगा। योजना पूरी होने से ग्रीष्म काल सहित पूरे वर्ष भर निकायों के नागरिकों को पानी मिल सकेगा।

Posted By: Ravindra Suhane