जबलपुर में अब घर बैठे ही बन जाएगा लर्निंग लाइसेंस

Updated: | Tue, 03 Aug 2021 04:21 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। परिवहन विभाग ने लर्निंग लाइसेंस की प्रक्रिया को पूरी तरह संपर्क रहित बनाया जा रहा है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के माध्यम से पूरे भारत के परिवहन कार्यालयों में कम्प्यूटरीकरण की सुविधा प्रदान कर रहा है। अगस्त माह से इन सेवाओं के लिए आवेदकों को क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय नहीं जाना होगा।

आनलाइन आवेदन कर प्राप्त कर पाएगे लाइसेंस : अगस्त से लर्निंग लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया को संपर्क रहित किया गया है। संपर्क रहित सेवा के अंतर्गत आवेदक को आरटीओ ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं होगी। आवेदक को अपने आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से वेबसाइट पर आवेदन करना होगा और निर्धारित फीस डिजिटल के माध्यम से जमा करानी होगी।

ऐसी है प्रक्रिया : आरटीओ संतोष पॉल ने बताया कि संपर्क रहित लर्निंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए जब आवेदक अपने प्रमाणीकरण के माध्यम से इलेक्ट्रानिकली आवेदन करेगा, तब आधार में दर्ज आवेदन का नाम, अभिभावक का नाम, जन्म तिथि, पता और आवेदक की फोटो स्वत: आवेदन फॉर्म में दर्ज हो जाएगी। जिसमें किसी भी अन्य व्यक्ति के द्वारा फेरबदल किया जाना संभव नहीं होगा। आवेदन के साथ आवेदक को अपने फिजिकल फिटनेस संबंधी घोषणा इलेक्ट्रानिकली दर्ज कराना होगा और घोषणा में किए गए शपथ के विरूद्ध यदि आवेदक शारीरिक अनफिट पाया जाता है, तो ऐसी स्थिति में आवेदन नहीं हो पाएगा। आवेदक के शारीरिक फिट होने पर ही आवेदन जमा हो पाएगा। आवेदन जमा होते ही आवेदक को एसएमएस के माध्यम से आवेदन प्राप्त नंबर प्राप्त हो जाएगा।

एसएमएस से मिलेगा लाइसेंस टेस्ट पासवर्ड : डिजिटल फीस जमा होने के बाद आवेदक को एमएमएस के माध्यम से लर्निंग लाइसेंस टेस्ट पासवर्ड मिलेगा। आवेदक को लर्निंग लाइसेंस प्राप्त करने के पहले अपने कम्प्यूटर से एक टेस्ट देना होगा। जिसमें 20 सवाल पूछे जाएंगे। सड़क सुरक्षा, ट्रैफिक संकेतों से संबंधित इन सवालों का प्रकार वस्तुनिष्ट होगा। लर्निंग लाइसेंस टेस्ट में 60 प्रतिशत सही जवाब देने पर आवेदक टेस्ट में पास माना जाएगा। इसके बाद खुद ही लर्निंग लाइसेंस उसके पास इलेक्ट्रानिकली जारी हो जाएगा। फिर वो लर्निंग लाइसेंस का प्रिंट निकाल सकता है। वहीं महिला उम्मीदवारों के लिए यह सुविधा पूरी तरह निश्‍शुल्क होगी।

और भी कई सुविधाएं जल्द होंगी शुरू : आने वाले माह में ड्राइविंग लाइसेंस के नवीनीकरण, ड्राइविंग लाइसेंस की डुप्लीकेट प्रति और ड्राइविंग लाइसेंस में पता बदलवाने के लिए भी संपर्क रहित सेवा भी आधार प्रमाणीकरण के माध्यम से प्रदान की जाएगी। इसके लिए आधार प्रमाणीकरण किए जाने पर यदि आधार में दर्ज आवेदक का नाम, जन्म दिनांक, लाइसेंस में दर्ज नाम व जन्म दिनांक से मिलती है तभी आवेदन जमा होगा। आवेदन जमा होने व डिजिटल फीस व पोस्टल चार्ज जमा होने के बाद आवेदक को एसएमएस के माध्यम से आवेदन नंबर प्राप्त हो जाएगा। साथ ही ड्राइविंग लाइसेंस कार्ड डाक के माध्यम से आवेदक के पते पर भेज दिया जाएगा।

Posted By: Brajesh Shukla