Sangeet Sandhya in Jabalpur: साहित्यिक संस्था प्रसंग द्वारा संगीत संध्या का आयोजन

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 01:06 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। साहित्यिक सांस्कृतिक व सामाजिक संस्था प्रसंग द्वारा संगीत संध्या का आयोजन किया गया। प्रसंग संस्था के 27 वर्षो के अनवरत सफलतम आयोजनों की श्रंखला में संस्था के 401 वें आयोजन के अवसर पर कलाविथीका में पुराने गीत, देवी गीत, भजनों से सजी मधुर प्रस्तुतियां दी गईं। इस अवसर पर प्रसंग समूह के संस्थापक इंजी. विनोद नयन को अभिनंदित किया गया। सरस्वती वंदना कविता राय ने प्रस्तुत की। आयोजन में वर्तिका से सुशील श्रीवास्तव, जागरण से सुभाष जैन शलभ, गुंजन से प्रतुल श्रीवास्तव, सृजन पथ से दीपक तिवारी, सुप्रभातम से डा. सुनीता गुप्ता, हम सब से मन्नान फ़राज़ उपस्थित रहे। जन समूह की उपस्थिति में नगर के सभी वरिष्ठ कलाकारों ने एक से बढ़कर एक गीतों की प्रस्तुतियां दीं। पूरा सभागृह स्वरलहरियों से और तालियों की गड़गड़ाहट से गूंजता रहा।

कलाकारों ने बताया कि संगीत ही था जिसने कोरोना काल में भी सभी का मनोबल बनाए रखा। प्रसंग द्वारा आयोजित आनलाइन आयोजनों में सभी शामिल रहे और कोरोना के समय में भी अपनी रचनात्मकता को बनाए रखने में लगे रहे। कला कोई भी हो वह जीवन को सकारात्मक विचारों से भर देती है। प्रसंग संस्था द्वारा कलाकारों को निरंतर मंच देकर उनका उत्साह बनाने में मदद की जा रही है।

शहर के विभिन्न संगीत संयोजकों को प्रसंग संस्था द्वारा प्रसंग सुरमाला सम्मान से विभूषित किया गया। जिनमें तुलसी राय, आलोक अबिद्रा, संतोष चंदेलिया, विमल श्रीवास्तव, ऋषि राज रैकवार ,अरविंद विश्वकर्मा, सरस्वती देवी द्विवेदी, डा.अनिल कोरी, परमजीत सिंह शामिल रहे।

आयोजन का संयोजन व कुशल संचालन मंजु गोरे का रहा। विशेष सहयोग प्रसंग परिवार से डा.रानू रुही, डा. मक़बूल अली, बसंत शर्मा, संस्कृति लढ़िया, डा. शशि लढ़िया, राजेश लखेरा का रहा। आभार प्रदर्शन बसंत कुमार शर्मा द्वारा किया गया।

Posted By: Ravindra Suhane