HamburgerMenuButton

MP High Court News: हाई कोर्ट ने जिस्टी वीडियो कॉफ्रेंसिंग प्लेटफॉर्म के चैट या ड्राप बाॅक्स में मेंशन मेमो फाइल करने की सुविधा दी

Updated: | Wed, 12 May 2021 08:45 PM (IST)

जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान मुख्यपीठ इंदौर व खंडपीठ इंदौर व ग्वालियर में मेंशन मेमो फाइल करने के लिए जिस्टी वीडियो कॉफ्रेंसिंग प्लेटफॉर्म के ऑनलाइन चैट बॉक्स या फिजिकल ड्राप बाॅक्स की सुविधा दी है। इस सुविधा का लाभ अत्यावश्यक मामलों के अलावा अन्य प्रकृति के प्रकरणों में आपवादिक तात्कालिकता की सूरत में अधिवक्ता व परिवादी उठा सकते हैं।

सीमित सुनवाई होगी: हाई काेर्ट के प्रिसंपिल रजिस्ट्रार ज्यूडीशियल मनोज कुमार श्रीवास्तव ने उक्त संबंधी में मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक के आदेश से परिपत्र जारी किया है। हाई कोर्ट का ग्रीष्मकालीन अवकाश 10 मई से शुरू हो चुका है, जो कि चार जून तक जारी रहेगा। इस अवधि में अर्जेंट मामलों की वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिये सीमित सुनवाई होगी। दैनिक केस लिस्ट में महज जमानत आवेदन, सजा निलंबन के लिए आवेदन, बंदी प्रत्यक्षीकरण मामले व गर्भ का चिकित्सकीय समापन अधिनियम से संबंधित मामले ही सूचीबद्ध किए जाएंगे। अवकाश अवधि के दौरान अन्य प्रकार के मामले सूचीबद्ध नहीं किए जाएंगे। जमानत या सजा के निलंबन के लिए कोई भी अनुवर्ती आवेदन फाइल या प्राप्त नहीं किया जा सकेगा। हालांकि ऐसे आवेदन जो कि अवकाश के पूर्व फाइल किए गए थे, उनको संबंधित, यदि अवकाश के दौरान आसीन हैं, तो उनके समक्ष सुनवाई के लिए लगाया जा सकेगा।

युगलपीठ के समक्ष रखे जाएंगे मामले : प्रात: 10.30 बजे से प्रात: 11.30 के मध्य सोमवार व गुरुवार को प्रस्तुत किए गए अनुरोध पत्र पर ही विचार संभव होगा। इनमें संक्षेप में वास्तविक तात्कालिकता के कारण दर्शानें होंगे। इस तरह के मामले, जो कि युगलपीठ के समक्ष सुने जाने आवश्यक हैं, उन्हें युगलपीठ के समक्ष रखा जाएगा। लेकिन यदि केवल एक न्यायाधीश आसीन हैं, तो युगलपीठ के लायक मामला भी एकलपीठ में सुनवाई के लिए लगाया जाएगा।

Posted By: Sunil Dahiya
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.