झाबुआ में महिला ने गृह मंत्री के सामने दी आत्महत्या करने की चेतावनी, यह था मामला

Updated: | Wed, 30 Jun 2021 03:30 PM (IST)

झाबुआ। बुधवार को झाबुआ दौरे पर पहुंचे गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा को सर्किट हाऊस में एक महिला ने आत्महत्या करने की चेतावनी दे डाली। महिला पिछले कई दिनों से झाबुआ के भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक पर यौन शौषण का आरोप लगा रही है। इसी मामले में गृहमंत्री को भी उसने आवेदन दिया और साथ ही यह कहा कि दो दिन में नायक के खिलाफ प्रकरण दर्ज नहीं होने पर वह अपने दो बच्चों व पति के साथ झाबुआ भाजपा कार्यालय के बाहर आत्महत्या कर लेगी। बाद में मीडिया को गृहमंत्री ने कहा कि वे इस मामले में जांच करवा रहे हैं। उधर भाजपा जिलाध्यक्ष नायक का कहना है कि उन पर राजनीतिक षड्यंत्र के तहत झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं।

गृहमंत्री ने झाबुआ में झाबुआ व आलीराजपुर जिले के कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए डीआरपी लाइन में 64 पुलिस आवास का लोकार्पण भी किया। यहां उन्होने मंच से कहा कि वरिष्ठ विधायक कांतिलाल भूरिया को कांग्रेस सरकार में कमलनाथ ने मंत्री नहीं बनाकर उनकी उपेक्षा की है। भूरिया जिले के कई थाने खाली होने व अपराध बढ़ने का कह रहे हैं, लेकिन उन्हें सही जानकारी नहीं है। जिले में न कोई थाना खाली है और न ही अपराध बढ़ रहे हैं। बल्कि पहले से अब बहुत अच्छी स्थिति है।

हेलीकाप्टर से गृहमंत्री मिश्रा व जिले के कोविड प्रभारी हरदीपसिंह डंग झाबुआ आए थे। झाबुआ में पुलिस महा निदेशक विवेक जोहरी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक अवस्ती, इंदौर झोन महानिरीक्षक हरिनारायणाचारी मिश्र व उप पुलिस महानिरीक्षक ग्रामीण चंद्रशेखर सोलंकी, झाबुआ कलेक्टर-एसपी व आलीराजपुर एसपी के साथ बंद कमरे में बैठक करते हुए दोनों जिलों के कानून व्यवस्था की समीक्षा की। फिर डीआरपी लाइन पहुंचे। जहां 64 पुलिस आवास व 6 पुलिस चौकी भवन का लोकार्पण कार्यक्रम हुआ।

चली राजनीतिक रस्सा कसी

कार्यक्रम की शुरूआत में विधायक भूरिया ने कह दिया कि कानून व्यवस्था की स्थिति अच्छी नहीं है। कई थानों में थाना प्रभारी ही नहीं है। थानों में आवेदकों की सुनवाई नहीं होती और पुलिस का डर अपराधियों में नहीं है। इस शुरूआती भाषण से ही कटाक्षों के तीर चलने लगे। सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहा कि पुलिस व जिला प्रशासन ने बहुत अच्छा कार्य किया है। अपराधों में कमी आ रही है। कोविड प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग ने भी प्रशासनिक कार्यों की प्रशंसा की और उसके बाद यह सिलसिला गृहमंत्री मिश्रा के भाषण में भी चला। मिश्रा ने चुटकी लेते हुए कहा कि पुलिस का डर नहीं बल्कि विश्वास होना चाहिए। भूरिया के पास सही जानकारी नहीं है। वे समीक्षा कर चुके हैं। सभी थानों में थाना प्रभारी पदस्थ हैं।

कांग्रेस शासन से वैट बढ़ा है

पत्रकारों से चर्चा करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस शासन से ही वैट टेक्स बढ़ा हुआ है। भूरिया को मंच से इस तरह के आरोप नहीं लगाना चाहिए। नायक पर लगे आरोप पर उनका कहना है कि उनके सामने आज ही यह मामला आया है। पुलिस कर्मचारियों के बच्चों के लिए लाइब्रेरी, बगीचा व जीम बनाने की उन्होने घोषणा करते हुए कहा कि पुलिस को साप्ताहिक अवकाश देने के मामले में भी चर्चा चल रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay