Khandwa Crime News: एक साथ जी नहीं सकते, एक साथ मर तो सकते हैं

नगर निगम के सफाई संरक्षक कर्मचारी महिला व पुरुष ने ओंकारेश्वर नहर परियोजना की नहर में कूदकर अपनी जान दे दी।

Updated: | Thu, 26 May 2022 04:09 PM (IST)

Khandwa Crime News: खंडवा/बड़वाह (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगर निगम के सफाई संरक्षक कर्मचारी महिला व पुरुष ने ओंकारेश्वर नहर परियोजना की नहर में कूदकर अपनी जान दे दी। शव बहते हुए ओंकारेश्वर उद्वहन नहर परियोजना के सिरलाय पंपिंग स्टेशन के पास जंक्शन में लगी जाली में अटक गए थे। पहले ऊपर केवल महिला का शव ही नजर आ रहा था। लेकिन जब नाविक शव निकालने के लिए नहर में उतरे तो पता चला कि साथ में पुरुष का शव भी महिला के साथ रस्सी से बंधा है। दोनों खंडवा नगर निगम के कर्मचारी होकर रामेश्वर जोन क्रमांक छह में पदस्थ थे।

बुधवार दोपहर शव दिखने पर पंपिंग स्टेशन पर कार्य करने वाले कर्मचारियों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस की सूचना पर नावघाटखेड़ी के गोताखोर प्रदीप केवट व बाबूलाल मंगले पहुंचे। दोनों नीचे उतरकर शव को रस्सी की सहायता से निकालकर लाए। नहर में अचानक रस्सी बंधे शव मिलने पर सनसनी फैल गई। पंप कार्य करने वाले मजदूरों की भी भीड़ लग गई। मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने पंचनामा बनाकर दोनों शव बड़वाह अस्पताल लाया गया है। बड़वाह थानें पदस्थ एएसआइ अब्दुल हफीज ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने पर नेमीचंद के स्वजन बड़वाह अस्पताल पहुंच गए थे। महिला के भाई को घटना की जानकारी दी है। वह जलगांव में है। रात करीब 11 बजे उसने बड़वाह आने का कहा है। गुरुवार को दोनों के शवों का पोस्टमार्टम किया जाएगा।

शव बाहर निकालकर पुलिस ने पुरुष के कपड़ों की तलाशी ली तो सुसाइड नोट मिला। यह पालीथिन में पैक करके रखा गया था। इसमें दोनों ने एक साथ 24 मई को प्रेम प्रसंग के चलते सुसाइड करना बताया है। नोट में महिला का नाम ज्योति तायडे व पुरुष के जेब से मिले दस्तावेज में फोटो भी मिला है। जिस पर नेमीचंद बोयाट लिखा है। सुसाइड नोट में लिखा था कि एक साथ जी नहीं सकते तो एक साथ मर तो सकते हैं। नोट में दोनों ने स्वीकार किया है की वे एक-दूसरे से प्यार करते हैं और बिना किसी दबाव अपनी मर्जी से आत्महत्या करना बताया है। दोनों एक साथ नौकरी करते थे। इस कारण उन्होंने नोट में लिखा है कि वे नौकरी पर भी किसी से परेशान नहीं थे। उन्होंने अपने कृत्य के लिए घरवालों से माफी मांगी है। जेब से चार एटीएम कार्ड, चाबी और डायरी मिली है। दस्तवेजों के आधार पर पुलिस शिनाख्त में जुटी है।

सफाई संरक्षक के पद पर पदस्थ थे दोनोंः नेमीचंद और ज्योति तायड़े नगर निगम में सफाई संरक्षक के पद पर थे। दोनों की ड्यूटी रामेश्वर जोन क्रमांक छह पर थी। बगीचे की देखभाल करने के साथ ही यहां की साफ-सफाई की व्यवस्था दोनों के हाथ में थी। जोन क्रमांक छह के प्रभारी भुवन श्रीमाली ने बताया कि ज्योति और नेमीचंद रामेश्वर बगीचे की सफाई का काम देखते थे। वे मंगलवार सुबह ड्यूटी पर आए थे। इसके बाद घर चले गए। दोपहर की शिफ्ट में काम पर नहीं आए थे। दोनों की गैर हाजिरी लगाई गई थी। ज्योति सिंघाड़ तलाई और नेमीचंद महात्मा गांधी वार्ड का निवासी है।

Posted By: Nai Dunia News Network
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.