खरगोन जिले से खरीदी शराब, पीने के बाद सनावद के दो युवकों की चित्तौड़गढ़ में मौत

Updated: | Tue, 27 Jul 2021 09:27 PM (IST)

सनावद (नईदुनिया न्यूज)। खाटू श्याम के दर्शन के लिए निकले ढकलगांव दो युवाओं की मौत हो गई। युवाओं की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के सांवरिया शासकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन बचाया नहीं जा सका। तीन अन्य की हालत भी ठीक नहीं है। बताया जाता है कि शराब विक्रेता ने फोन करके युवाओं को मना भी किया था कि उनके यहां से खरीदी शराब नहीं पीएं। वह जहरीली होने की आशंका है।

25 जुलाई को को ढकलगांव के 17 युवा यात्रा पर निकले थे। रास्ते में ढाबे पर भोजन के दौरान 5 युवकों ने शराब पी थी। यह शराब युवाओं ने सनावद स्थित दुकान से खरीदी थी। इसे पीने से ही युवाओं की मृत्यु बताई जा रही है। इस घटना में 25 वर्षीय रूपेश पुत्र एडू रांडवा व 28 वर्षीय नरेंद्र पुत्र रमेश मुकाती की उपचार के दौरान मौत हो गई। ईश्वर पुत्र रामेश्वर, जय पुत्र प्रभु व निलेश पुत्र देवराम को उदयपुर जिला अस्पताल रेफर किया गया है। वहां उनकी हालत भी गंभीर बताई जा रही है। यात्रा के लिए साथ में गए महेश चौधरी ने बताया कि यह सही है कि वहां पर शराब की एक बोतल जब्त की गई है। पांच व्यक्तियों ने ही शराब पी थी।

स्थानीय गुर्जर समाज ने की मदद

घटना के बाद स्थानीय गुर्जर समाज के समाजसेवियों ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया। इनमें पवन पटेल, पंकज पटेल, मांगीलाल बिरला, सोहन बिरला, कमलसिंह गुर्जर और अखिल भारतीय गुर्जर देव सेना के जिलाध्यक्ष खरगोन डा. रवि पाटिल गुर्जर चित्तौड़गढ़ अस्पताल पहुंचे। पीड़ितों की मदद की। पंकज व डा. रवि ने बताया कि चित्तौड़गढ़ पुलिस ने शराब की बोतल भी जब्त की है। आशंका है कि जो शराब पी गई थी, वही जहरीली थी। शराब पीने के बाद युवाओं को लगातार उल्टियां हुईं उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और खरगोन प्रशासन से अवैध शराब विक्रेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।

मंडलेश्वर में भी पी थी शराब

जानकारी के अनुसार ढकलगांव से 17 युवा श्याम खाटू धार्मिक यात्रा के लिए वाहन में निकले थे। सनावद के ट्रेंगल चौराहा से उन्होंने शराब की बोतलें खरीदी थीं। मंडलेश्वर में केवल पांच युवाओं ने शराब पी थी। रास्ते में जय को उल्टी होने लगी। तभी अन्य युवाओं ने कहा कि शायद शराब नकली है। अब इसे मत पीना। इसके बाद वे खलघाट में एक ढाबे पर खाना खाकर धार्मिक यात्रा पर आगे बढ़ चले। चित्तौड़गढ़ पहुंचने के दौरान पांचों युवाओं की हालत बिगड़ती चली गई। इसके बाद उन्हें चित्तौड़गढ़ के सांवरिया शासकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां नरेंद्र व रूपेश की मौत हो गई। इस घटना के बाद ढकलगांव में मातम छा गया। मृतक रूपेश शादीशुदा था। उसके दो बच्चे भी हैं।

इनका कहना है

जिले के सनावद थाना क्षेत्र के दो युवकों की चित्तौड़ के सांवरिया अस्पताल में मौत होने की सूचना मिली थी। पहले मौत का कारण फूड पाइजनिंग बताया गया था। बाद मौत कारण शराब बताया गया। तीन अन्य युवक उल्टी-दस्त से पीड़ित हैं। पूरी घटना राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के थाना भदेसर की है। घटना स्थल वहां का है। फिलहाल वहां से सूचना मिली है।

- जितेंद्र सिंह पंवार, एएसपी, खरगोन

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay