Morena Murder News: कार, अंगूठी और रुपये लूटने के लिए आगरा के कार शोरूम मैनेजर की हत्या, शव मुरैना में मिला

Updated: | Tue, 19 Oct 2021 05:24 PM (IST)

Morena Murder News: मुरैना.नईदुनिया प्रतिनिधि। उत्तर प्रदेश के आगरा में संचालित टोयोटा कार कंपनी के शोरूम के बॉडी शॉप मैनेजर का शव मंगलवार की सुबह मप्र-राजस्थान बॉर्डर की अल्लाबेली चौकी के पास मिला है। मृतक मैनेजर की कार, हाथ की उंगली से सोने की अंगूठी, दो मोबाइल सहित रुपये गायब हैं। टोयोटा शोरूम के साथी अधिकारी-कर्मचारी, मृतक के स्वजन हत्या कर शव को मुरैना में फेंकने के आरोप लगा रहे हैं। उधर सरायछौला पुलिस ने फिलहाल मर्ग का केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

आगरा के मोती कटरा, सब्जी मंडी निवासी 45 वर्षीय रंजीत पुत्र ओमप्रकाश खरे शनि टोयोटा शोरूम आगरा में बतौर बॉडी शॉप मैनेजर के पद पर पदस्थ थे। सोमवार को वह रात 9 बजे अपनी कार यूपी 83 एक 8733 से घर के लिए निकले थे। शोरूम के एक कर्मचारी को दूसरी कंपनी में अच्छे पैकेज पर नौकरी मिलने की खुशी में कारगिल पेट्रोल पंप के सामने स्थित एक रेस्टोरेंट में विदाई पार्टी हुई, जिसमें रंजीत खरे शामिल हुए। यहां खाना-पीना हुआ। साथी कर्मचारियांे ने पुलिस को बताया कि वह 9-10 बजे यहां से निकल आए, तब रंजीत खरे वहीं थी। दूसरे दिन सोमवार की दोपहर 12 बजे इन कर्मचारियों और मृतक के स्वजनों को सरायछौला थाने से सूचना दी गई कि, रंजीत खरे का शव चंबल नदी के पास, हाईवे किनारे पड़ा मिला है। मृतक रंजीत की कार, दो मोबाइल, सोने की अंगूठी, पर्स, एटीएम आदि गायब हैं। मृतक मैरेजर के गले, चेहरे व सिर पर धारदार हथियारों के निशान हैं, जिससे हत्या कर शव फेंकने की संभावना है।

रात पौने 12 बजे फोन किया तो 15 मिनट में घर पहुंचने की कहा

घटना की जानकारी मिलते ही मृतक रंजीत खरे के तीन भाई अमित खरे, विक्रांत खरे और सुरजीत खरे मुरैना पहुंचे। सुरजीत खरे ने नईदुनिया से चर्चा के दौरान कहा, कि बड़े भैया रंजीत देर रात तक घर नहीं पहुंचे तो उन्होंने पौने 12 बजे रंजीत का फोन लगाया। फोन पर आखिरी बार हुई बातचीत में रंजीत ने कहा, कि वह 15 मिनट मंे घर पहुंच जाएगा। इसके बाद रात साढ़े 12 बजे तक घर नहीं पहुंचे तो सुरजीत ने फिर फोन लगाया, लेकिन उसके बाद फोन बंद मिले।

तीन दिन पहले मारुति के मैनेजर को बांधकर फेंक गए और कार ले गए

कार शोरूम के अधिकारी के साथ इस तरह की घटना आगरा में पहली बार नहीं हुई। तीन दिन पहले यानी शनिवार को मारुति के प्रेम मोटर्स आगरा के बॉडीशॉप मैनेजर सदगुरू शरण के साथ भी ऐसी घटना हुई, गनीमत यह रही कि बदमाशों ने उनकी जान नहीं ली। बताया गया है कि सदगुरू शरण शनिवार को शोरूम से घर के लिए अपनी बलेनो कार से निकले थे, लेकिन सिकंदरा फलमंडी के पास से बदमाशों ने उनका अपहरण कर लिया। इसके बाद मथुरा रोड, फरेह के पास उनके हाथ-पांव बांधकर सड़क किनारे फेंक गए। उनकी कार, रुपये व अन्य कीमती सामान को बदमाश लूट ले गए थे, जिसका अब तक सुराग नहीं लगा।

वर्जन

- रोज की तरह सोमवार को रंजीत खरे शोरूम से निकले हैं। उनकी कार, अंगूठी, मोबाइल, पर्स आदि लूटकर उनकी हत्या की गई है। बदमाशों ने शव को मुरैना क्षेत्र में आकर फेंका है। तीन दिन पहले मारुति के मैनेजर के साथ भी ऐसी ही घटना हुई, जिनकी कार बदमाश लूट ले गए और उन्हें बांधकर सड़क किनारे फेंक गए।

विकास तिवारी, जीएम, शनि टोयोटा आगरा

- अल्लाबेली चौकी के पास मंदिर से 15-20 कदम दूर शव मिला है। मृतक की कार व अन्य सामान गायब है। लूट के लिए हत्या कर शव को फेंकने जैसी बात से इंकार नहीं किया जा सकता। अभी मर्ग का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मृतक के फोन की डिटेल व लोकेशन निकलवा रहे हैं, जिससे जांच में मदद मिले।

जितेन्द्र नागाइच, टीआई, सरायछौला थाना

Posted By: anil.tomar