HamburgerMenuButton

मुरैना के पहाड़गढ़ में लॉकडाउन के दौरान 8.30 लाख मास्क बेचे, अब खोला दीदी कैफे

Updated: | Sat, 28 Nov 2020 01:04 PM (IST)

मुरैना, नईदुनिया न्यूज। आपदा में भी रोजगार और तरक्की के अवसर कैसे निकाले जाते हैं? यह पहाड़गढ़ क्षेत्र की ग्रामीण महिलाओं ने साबित कर दिखाया। कोरोना महामारी व लॉकडाउन के बीच इन महिलाओं ने 8 लाख 30 हजार रुपये के मास्क बनाए। मास्क बेचने पर जो बचत हुई उससे अब कैफे हाउस खोला है। यह कैफे हाउस पहाड़गढ़ ही नहीं पूरे मुरैना का इकलौता का कैफे हाउस हैं जिसका पूर्ण संचालक महिलाएं करेंगी।

कलेक्टर अनुराग वर्मा व जिला पंचायत सीईओ तरुण भटनागर ने स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा खोले गए इस कैफे हाउस का उद्घाटन किया। कैफे हाउस का नाम 'दीदी कैफे हाउस' रखा गया है। मध्य प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा बनाए गए सांई कृपा स्व-सहायता समूह से जुड़ी 11 महिलाएं इस कैफे हाउस का संचालन करेंगी। समूह की अध्यक्ष आराधना सिंह धाकड़ ने बताया कि पारिवारिक स्थिति अच्छी नहीं थी, इस कारण मन में तरह-तरह के ख्याल आते थे कि क्यों न कुछ रोजगार खोलकर पति के साथ सहयोगी बनूं। इसके बाद 4 जनवरी 2020 को अजीविका मिशन के जरिए मिली आर्थिक मदद से मास्क बनाने का काम शुरू किया। लॉकडाउन के दौरान 83 हजार मास्क बनाए जिन्हें बेचकर समूह की महिलाओं को 8 लाख 30 हजार रूपये की आय प्राप्त हुई।

परमानेंट कस्टमर बने जनपद के अधिकारी-कर्मचारी

शुक्रवार से शुरू हुई इस कैफे हाउस के परमानेंट ग्राहक के तौर पर पहाड़गढ़ जनपद के अधिकारी-कर्मचारी जुड़े। जनपद के अधिकारी कर्मचारियों को किसी बैठक या खुद के लिए जब भी कॉफी, चाय, समोसे, पकौडे आदि सामग्री की जरूरत होगी तो वह दीदी कॉफी को ही आर्डर करेंगे। दीदी कॉफी की संचालिका आराधना सिंह ने बताया कि वह जनपद को किफायती दाम पर चाय-नाश्ता उपलब्ध कराएंगी।

Posted By: Prashant Pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.