HamburgerMenuButton

मुरैना में सिंथेटिक दूध बनाने वाले अवधेश शर्मा पर लगी रासुका

Updated: | Thu, 03 Dec 2020 12:31 PM (IST)

मुरैना (नईदुनिया न्यूज)। केमिकल व अन्य खतरनाक सामग्री से सिंथेटिक दूध बनाने वाले कोट सिरथरा गांव के अवधेश शर्मा पर कलेक्टर अनुराग वर्मा ने बुधवार को रासुका की कार्रवाई की। रासुका लगने के बाद पुलिस ने अवधेश को गिरफ्तार कर केन्द्रीय जेल ग्वालियर भेज दिया।

गौरतलब है कि फूड सेफ्टी विभाग की टीम 20 नवंबर को पहाड़गढ़ जनपद के कोट सिरथरा गांव में नकली दूध बनाने का प्लांट पकड़ा था। प्रशासन की टीम ने पहली बार सिंथेटिक दूध बनते हुए पाया था, जिसमें लिक्विड साबुन, रिफाइंड ऑयल, स्किम्ड मिल्क पाउडर व केमिकलों का उपयोग कर दूध बनाया जा रहा था। मुरैना जिले में ऐसा पहली बार हुआ है, जब फूड सेफ्टी विभाग की टीम ने नकली दूध बनाते हुए आरोपितों को रंगे हाथ पकड़ा है। इस मामले में पहाड़गढ़ पुलिस ने 22 नवंबर को अवधेश शर्मा पर फूड सेफ्टी एक्ट के अलावा, लोगों की जान खतरे में डालने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद अवधेश के खिलाफ रासुका की कार्रवाई का प्रतिवेदन तैयार हुआ, जिस पर कलेक्टर अनुराग वर्मा ने मंगलवार की दोपहर मुहर लगा दी।

700 लीटर को बना देता था 1500 लीटर दूध

जांच में समाने आया है कि अवधेश शर्मा कई साल से नकली व मिलावटी दूध बनाने का काम कर रहा है। वह हर रोज 700 लीटर दूध सपरेटा (क्रीम निकला हुआ) लेता था। इसके बाद ड्रमों में मिक्सर के जरिए करीब पॉम ऑयल, स्किम्ड मिल्क पॉउडर, लिक्विड साबुन अन्य केमिकलों को पानी में मिलाकर गाढ़ा क्रीमनुमा घोल तैयार करता था। इसे 800 से 850 लीटर पानी में मिलाता था। इसके बाद 700 लीटर सपरेटा दूध को नकली दूध में मिलाकर उसे फुल क्रीम वाला 1500 लीटर दूध बना देता था। यह दूध कैलारस की दो डेयरी व एक चिलर प्लांट को सप्लाई होता था, जो सैकड़ों घरों मंे पहुंचता था।

वर्जन

- अवधेश शर्मा के खिलाफ रासुका की कार्रवाई करके उसे जेल भेजा गया है। यह आरोपित खतरनाक केमिकल से दूध बनाकर लोगों की जान जोखिम में डाल रहा था। मिलावट करने वालों के खिलाफ पूरे प्रदेश में अभियान चल रहा है और मिलावट करने वालों पर इसी तरह सख्त की सख्त कार्रवाई आगे भी होती रहेगी।

अनुराग वर्मा, कलेक्टर, मुरैना

Posted By: Ajaykumar.rawat
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.