रिकार्ड में कम हुए नगर निगम के दो वार्ड, अफसर बोले- टंकण में त्रुटि

जिले में पंचायत और नगरीय निकाय चुनावों की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। इसी बीच जिला प्रशासन द्वारा राज्य पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग कोदेदीहै।

Updated: | Tue, 24 May 2022 12:45 PM (IST)

मुरैना(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में पंचायत और नगरीय निकाय चुनावों की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। इसी बीच जिला प्रशासन द्वारा राज्य पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग को दी गई रिपोर्ट में, मुरैना नगर निगम के 45 वार्ड बता दिए हैं, जबकि ननि क्षेत्र के 47 वार्ड हैं। शनिवार को हुई नगरीय विकास एवं आवास विभाग की आनलाइन बैठक में कलेक्टर बी कार्तिकेयन ने भोपाल के अफसरों से जानकारी देते हुए पूछा कि अब इस मामले में क्या करें। उधर नगर निगम आयुक्त सहित निर्वाचन से जुड़े अफसरों का कहना है, कि इससे चुनाव या आरक्षण की प्रक्रिया में कोई असर नहीं पड़ेगा। क्योंकि यह क्लरीकल (टाइपिंग में) गलती है। इस गफलत के बाद आज यानी मंगलवार को नगरीय निकाय के वार्डों का आरक्षण होना है, तो कल बुधवार को ग्राम पंचायत, जनपद पंचायतों की सीटों पर आरक्षण होगा।

नगर निगम में ओबीसी की एक सीट घटेगीः

मुरैना नगर निगम के 47 वार्डों में कुल मतदाता 2 लाख 49 हजार के करीब हैं। इनमें पिछड़ा वर्ग के वोटों की संख्या लगभग 67 हजार है। सुप्रीम कोर्ट ने पिछड़ा वर्ग, एससी व एसटी को मिलाकर अधिकतम 50 प्रतिशत आरक्षण देने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद से नगरीय निकायों में आरक्षण की प्रक्रिया फिर से होगी। नगर निगम आयुक्त संजीव जैन ने बताया कि पिछड़ा वर्ग के वोट 23 फीसद के करीब हैं। ऐसे में ओसीबी को 35 फीसद आरक्षण किसी भी सूरत में नहीं मिल सकता और इसका असर यह होगा कि नगर निगम की सीटों में से पिछड़ा वर्ग की एक सीट कम हो जाएगी। वर्तमान में पिछड़ा वर्ग के लिए 12 वार्ड आरक्षित हैं, सोमवार को होने वाले आरक्षण में इनकी संख्या घटकर 11 रह जाएगी। नगर निगम में 10 वार्ड अनुसूचित जाति वर्ग के प्रत्याशी के लिए आरक्षित हैं। बाकी के 25 वार्ड अनारक्षित हैं। पिछड़ा वर्ग की एक सीट कम होने से अनारक्षित वर्ग को एक सीट और मिलेगी।

जिपं के 15, जनपद के 130 सदस्य, सरपंच 426ः

पंचायत चुनावों के तहत पहले नगरीय निकाय चुनाव होने की बातें कही जा रही हैं। इसके बाद जिला पंचायत, जनपद सदस्य, सरपंच और ग्राम पंचायत के पंचों के पदों पर चुनाव होगा। जिले में जिला पंचायत सदस्य की 15 सीट, सातों जनपद (मुरैना, अंबाह, पोरसा, जौरा, कैलारस, सबलगढ़ और पहाड़गढ़) में जनपद सदस्यों की 130 सीटें हैं। जिलेभर में 426 सरपंचों के पद और 7049 पंचों के पद हैं, जिन पर चुनाव होगा।

नगरीय निकायों का आज, पंचायतों का आरक्षण कलः

मुरैना नगर निगम के अलावा सबलगढ़ नगर पालिका, अंबाह नगर पालिका, पोरसा नगर पालिका, कैलारस नगर परिषद, जौरा नगर परिषद, झुण्डपुरा नगर परिषद और बानमोर नगर परिषद के पार्षदों की सीटों के आरक्षण की प्रक्रिया आज मंगलवार को कलेक्टोरेट सभागार में होगी। उप जिला निर्वाचन अधिकारी एलके पाण्डेय ने बताया कि आरक्षण की प्रक्रिया सुबह 11 बजे से ही शुरू हो जाएगी। उन्होंने बताया कि नगरीय निकायों के बाद दूसरे दिन यानी बुधवार को ग्राम पंचायतों के सरपंच, पंच और जनपद सदस्यों की सीटों के लिए आरक्षण मंगलवार 25 मई को किया जाएगा। जिला पंचायत सदस्यों की सीटों के लिए आरक्षण की प्रक्रिया बाद में होगी।

वर्जन

- डूडा द्वारा ओबीसी आयोग को भेजी गई रिपोर्ट में नगर निगम में वार्ड 47 की जगह 45 बता दिए गए हैं। यह रिपोर्ट शासन स्तर तक गई है। सुप्रीम कोर्ट में चल रहे मामले में यह रिपोर्ट नहीं दी गई। शासन के रिकार्ड में निगम में 47 वार्ड हैं, पहले भी 47 वार्ड में आरक्षण हुआ था। ओबीसी आयोग को भेजी गई रिपोर्ट में क्लरीकल मिस्टेक हैं, इससे चुनाव या फिर आरक्षण की कार्रवाई पर कोई असर नहीं पड़ेगा। आज आरक्षण की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। हां पिछड़ा वर्ग की एक सीट को अनारक्षित किया जाएगा।

संजीव जैन,आयुक्त, नगर निगम मुरैना

Posted By: Nai Dunia News Network
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.