HamburgerMenuButton

Video: शिवराज का कमल नाथ पर निशाना, बोले- मिस्टर 15 परसेंट किसे कहा जाता है, दुनिया जानती है

Updated: | Sun, 18 Oct 2020 05:54 AM (IST)

Video: मुरैना (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुरैना के सुमावली विधानसभा क्षेत्र में आयोजित सभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भ्रष्टाचार को लेकर पूर्व सीएम कमल नाथ पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा कि कमल नाथ जी खुद को मिस्टर क्लीन कहते है लेकिन दिल्ली में मिस्टर 15 परसेंट किसे कहा जाता है कमल नाथ जी, ये दुनिया जानती हैं। कमल नाथ ने पूरे प्रदेश को तबाह-बर्बाद कर दिया है।

दो दिन पहले सुमावली के ही बागचीनी में हुई सभा में पूर्व सीएम कमल नाथ ने कहा था कि उनके राजनीतिक जीवन में किसी ने भ्रष्टाचार के मामले में उंगली नहीं उठाई। शिवराज की तरह उनके साथ डंपर कांड, व्यापमं घोटला ओर ई-टेंडर घोटाला नहीं जुड़ा है।

इसका जवाब देते हुए शुक्रवार को सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार का विकेंद्रीकरण राजनैतिक कार्यकर्ताओं तक करने का महापाप कमल नाथ ने किया है। रोज पैसे समेटना, कुछ बांट देना और अधिकांश खुद ले जाना। कमल नाथ पूरे मप्र को चर गए, प्रदेश को दलालों का अड्डा बना दिया। - कमल नाथ बता दे रे, तेरा नरा कहां गड़ा है शिवराज सिंह ने कहा कि कमल नाथ परसों यहां आए थे, उससे पहले बरसों से नहीं आए। सभा में मुख्यमंत्री ने खुद को 20 बार से ज्यादा नंगा-भूखा कहते हुए कांग्रेस पर तंज कसे।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ को बाहरी बताते हुए कहा कि किसी को नहीं पता कि कमल नाथ का नरा (गर्भ के समय नवजात से जुड़ी नाल) कहां गड़ा है। उन्होंने कहा- कमल नाथ तुम उद्योगपति हो। हे उद्योगपति तूने प्रसूता के लड्डू, कन्यादान योजना का पैसा, गरीबों के कफन के 5000 तक भी छीन लिए। हम नंगे, भूखे हैं, पर इसी माटी के हैं। चंबल प्रोग्रेस-वे, पुल, सड़कें बनवा रहे हैं और जीरो परसेंट पर कर्ज दे रहे हैं।

कमल नाथ की लंका में आग लगाने का फैसला सबसे पहले ऐदल सिंह ने किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2018 में हमारी सरकार नहीं बनी। बहुमत कांग्रेस के पास भी नहीं था। अंतर चार-पांच सीट का था। अगर तीन सीट और हमको मिल जातीं तो सरकार बना लेते। उस समय निर्दलीय विधायकों ने मुझसे कहा कि मामा हम समर्थन दे देंगे, सरकार बनाओ। मैंने कहा जब दिल ही टूट गया... हम बाजी हार गए तो काहे का मुख्यमंत्री... छोड़ो और निकलो यहां से। अत्याचारी कमल नाथ की लंका में आग लगाने का फैसला सबसे पहले ऐदल सिंह कंषाना ने किया और कांग्रेस सरकार सड़क पर आ गई।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.